Mumbai | पवई आईआईटी हज़ारों मीटर ऊंचे गांवों में ड्रोन के जरिये पहुंचाएगा कोरोना वैक्सीन, केंद्र सरकार से मिली परमिशन 

मुंबई (Mumbai News), 15 सितंबर : Mumbai | हिंदुस्तान के दुर्गम क्षेत्रों में कोरोना प्रतिबंधक वैक्सीन (Corona Vaccine) पहुंचाना बड़ी चुनौती बन गई है।  इस चुनौती को पूरा करने की जिम्मेदारी केंद्र सरकार (Central Government) ने पवई के आईआईटी (Powai IIT) मुंबई (Mumbai) को सौंपा है।

 

हज़ारों मीटर ऊंची  पहाड़ी पर स्थित गांवों में ड्रोन (Drone) के जरिये वैक्सीन पहुंचाने के लिए केंद्र सरकार ने आईआईटी मुंबई (IIT Mumbai) को विशेष परमिशन दी है। देश की केवल दो संस्था की इस तरह की परमिशन दिया गया है।  इनमे राष्ट्रीय मेडिकल रिसर्च परिषद् (National Council of Medical Research) (आईसीएमआर) शामिल है।
देश में ड्रोन के स्तर पर कुछ क़ानूनी बंधन है। ड्रोन तय ऊंचाई तक उड़ सकता है , जमीन से वह साफ दिखाई दे इतनी ऊंचाई तक उड़ सकता है।  इसकी केवल सेना और सुरक्षा एजेंसियों को ही छूट है।  अब केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्रालय (Union Ministry of Civil Aviation) और नागरी उड्डयन महासंचालनालय (Directorate General of Civil Aviation) ने आईआईटी मुंबई (IIT Mumbai) और आईसीएमआर (ICMR) को कोरोना वैक्सीन पहुंचाने की शर्त पर यह छूट दी है।

 

अंदमान-निकोबार क्षेत्र में भी जाएगा ड्रोन

अंदमान-निकोबार क्षेत्र (Andaman and Nicobar Region) और मणिपुर, नागालैंड में 3 हज़ार मीटर ऊंचाई पर बसे गांवों में कोरोना वैक्सीन ड्रोन दवारा पहुंचाई जाएगी।  आईआईटी मुंबई और आईसीएमआर को इसके लिए एक साल की परमिशन दी गई है।

तेलंगाना में ड्रोन से पहुंचाई जाएगी दवा

 

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने 11 सितंबर को तेलंगाना के विकारबाड़े में मेडिसिन फ्रॉम द स्काई प्रोजेक्ट (Medicine from the Sky Project) का उद्घाटन किया था। इसके तहत तेलंगाना में दवा और वैक्सीन ड्रोन के जरिये सप्लाई की जाएगी। मार्च में ड्रोन संबंधी नियमों में छूट दी गई थी।  नए नियम के अनुसार ड्रोन ऑपरेटर को ड्रोन (Drone) का रजिस्ट्रेशन कराने या उसकी परमिशन पाने के लिए सुरक्षा मंजूरी लेनी होगी।

 

 

 

Maharashtra Police |  पुणे, नागपुर पुलिस को बेस्ट पुलिस यूनिट अवार्ड ! कम्युनिटी पुलिसिंग पर जोर, इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी का बेहतर उदाहरण पेश करने वाले गढ़चिरोली को दोहरी सफलता, औरंगाबाद, रायगढ़ को मिला अव्वल स्थान

New RTO Rule | सावधान ! कार के नंबर प्लेट में नींबू-मिर्ची, काला  धागा लटकाया तो; 5000 रुपए का चालान कटेगा

You might also like

Comments are closed.