Mumbai News | मुंबई में 291 जगहों पर भूस्खलन का खतरा, ‘मौत’ का सबसे ज्यादा हॉटस्पॉट ‘इस’ वार्ड में

 

मुंबई : पिछले सप्ताह से मुंबई (Mumbai News) में मूसलाधार बारिश हो रही है। मूसलाधार बारिश की वजह से मुंबई (Mumbai News), ठाणे और आसपास के परिसर में लैंडस्लाइड (landslide) की घटना हुई है। इस दुर्घटना में 29 लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा। इसलिए पहाड़ी इलाकों में रहनेवाले लोगों की सुरक्षा का सवाल खड़ा हो गया है। मुंबई में 22 हजार 483 परिवार अपनी जान हथेली पर रखकर इन इलाकों में रह रहे हैं।

मुंबई मनपा (Mumbai Municipal Corporation) के आंकड़े के अनुसार मुंबई शहर में 291 भूस्खलन प्रवण क्षेत्र है। इसमे 50 प्रतिशर जगह एस प्रभाग में है। इसमे भांडुप और विक्रोली इलाका शामिल है। मनपा के आंकड़ेवारी के अनुसार इस इलाके में बड़ी संख्या में लोग रह रहे हैं।

S ward में 152 खतरनाक जगह

मनपा के अधिकारियों ने कहा कि मुंबई में कुल 24 प्रशासनिक प्रभाग में से 19 प्रभाग के 291 जगह का भूस्खलन प्रवण इलाके में वर्गीकरण किया गया है। इसमे एस प्रभाग में सबसे ज्यादा इलाके हैं। एस प्रभाग के 152 ऐसे क्षेत्र हैं। इसके बाद एन प्रभाग (घाटकोपर, असल्फा) 32, एल वार्ड (कुर्ला, साकीनाका) 18 और डी वार्ड (मलबार हिल, ग्रंट रोड) के 16 स्थान हैं। इस संदर्भ में एक अंग्रेजी न्यूजपेपर ने जानकारी दी है।

लोगों को चेतावनी दी थी

रविवार रात हुई मूसलाधार बारिश की वजह से चेंबूर और विक्रोली में लैंड स्लाइड की घटना हुई। इसमे 29 लोगों की मौत हो गई और 6 लोग घायल हो गए। इस दोनों घटना में मनपा ने ऐसा दावा किया है कि इस परिसर में रहनेवाले लोगों को सुरक्षित जगह पर जाने की चेतावनी दी गई थी।

29 साल में 290 लोगों की मौत

सूचना अधिकार कार्यकर्ता ने कहा कि ऐसे इलाकों में 22 हजार से अधिक लोग रह रहे हैं। मुंबई में भूस्खलन की वजह से जानहानी और आर्थिक नुकसान ये नया नहीं है। राज्य सरकार पिछले 10 साल से परिस्थिति में सुधार के लिए गंभीर नहीं है। पिछले 29 वर्षों में लैंडस्लाइड होने से 290 लोगों की मौत हुई है। वहीं 300 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं।

You might also like

Comments are closed.