बुलढाणा के जंगल में मिले क्रूरता पूर्वक मारे गए 90कुत्तों के शव,

पुणे : समाचार ऑनलाईन : पूर्वी महाराष्ट्र के बुलढाणा जिले से एक चौंकाने वाली ख़बर सामने आई हैं. इस जिले के वन्य क्षेत्र के गिरडा-सवालदाबरा मार्ग के अलग-अलग स्थानों पर गुरुवार को कुत्ते मरे हुए मिले, जिसके बाद से क्षेत्र में सनसनी फैल गई हैं. पुलिस के मुताबिक़ इन सभी कुत्तो के मुंह और पैर रस्सी से क्रूरतापूर्वक बांधे गए थे. इनकी हालत देख कर लगता है जैसे इन्हें बेहरमी से मार कर, वन्य क्षेत्र में फ़ेंक दिया गया था. इन आवारा कुत्तों की संख्या लगभग 90 बताई जा रही है. पुलिस ने यह जानकारी रविवार को दी हैं.

Loading...

पुलिस ने यह भी बताया कि जब मरे हुए कुत्तो के शवों के सड़ने की बदबू आसपास फैली, तब इस मामले का खुलासा हों पाया. इसके बाद इस घटनाक्रम की जानकारी स्थानीय लोगों ने शासन- प्रशासन और पुलिस को दी.

पुलिस अधिकारी ने बताया कि अलग-अलग पांच स्थानों पर 100 से अधिक कुत्ते मिले थे, जिनमें से कुछ कुत्ते जिन्दे अधमरी हालत में थे, जबकि 90 मृत अवस्था में मिले थे.

ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस औऱ वनविभाग की टीमें तत्काल घटना स्थल पर पहुँची औऱ वहां का मुआयना कर जिंदा मिले कुत्तों को छोड़ा गया.

पुलिस कर रही हैं सघन पूछताछ…

क्रूरतापूर्वक कुत्तों को मौत के घाट उतारने वालों का अभी तक कोई पता नही चल सका हैं, जबकि पुलिस औऱ वन विभाग की टीमें अज्ञात आरोपियों की तलाश में जुटी हुई हैं. वही अधिकारीयों ने इस घटनाक्रम को लेकर आंशका व्यक्त करते हुए क़हा हैं कि, “पुलिस को संदेह है कि शहर के भीतर आवारा कुत्तों को पकड़कर मार डाला गया और उन्हें वन्यक्षेत्र में फेंक दिया गया. इस मामले की जाँच कर रहे अधिकारी लगातार कुत्ते पकड़ने वालों से पूछताछ कर रहे हैं.”

अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज

जाँच अधिकारियों ने इन कुत्तों की मृत्यु के बारे में स्पष्ट करते हुए क़हा हैं कि, अभी तक पोस्टमार्टम रिपोर्ट नही मिली हैं. रिपोर्ट नहीं मिल जाती तब तक इनकी मौत के कारणों के बारे में कुछ नहीं क़हा ज़ा सकता.

इस मामले में अवारा कुत्तों को मारने वाले अज्ञात लागों के खिलाफ रविवार को पशु क्रूरता रोकथाम अधिनियम, 1960 और भारतीय दंड संहिता (IPC) की धाराओं के अंतर्गत मामला दर्ज किया गया है. वही अज्ञात आरोपियों की तलाश ज़ारी हैं.

l

You might also like

Comments are closed.