Mumbai Cyber Police | मुंबई पुलिस ने फर्जी ई-बीमा पॉलिसी बेचने वाले इंटर स्‍टेट गैंग का किया पर्दाफाश

मुंबई : Mumbai Cyber Police | मुंबई सायबर पुलिस ने एक इंटर स्‍टेट गैंग का पर्दाफाश किया है. यह गैंग कई प्रमुख कंपनियों का फर्जी बीमा पॉलिसी बेचने का काम करता था और बीमा के नाम पर लोगों के साथ ठगी की जा रही थी. यह जानकारी एक अधिकारी (Mumbai Cyber Police) ने दी है.

ठगी का शिकार हुए एक व्‍यक्ति ने शिकायत में कहा है कि जून 2020-मार्च 2021 के दौरान लॉकडाउन की अवधि में बीमा कंपनी का प्रतिनिधि होने का दावा करने वाले कुछ लोगों से उन्‍होंने संपर्क किया था और उन्‍हें अधिक लाभ देने का झांसा दिया गया.

इन सायबर अपराधियों का जाल  महाराष्‍ट्र, तेलंगाना, उत्‍तर प्रदेश, हरियाणा और दिल्‍ली तक फैला हुआ है.  पकड़े गए आरोपियों के नाम भारती एक्‍सा इंश्‍योरेंस की बानी सिंह, विजय मेहता और पीएनबी मेटलाइफ इंश्‍योरेंस के दीपक दुबे, स्‍नेहा और पूजा है.

इन आरोपियों ने शिकायतकर्ता को ऑनलाइन एक पॉलिसी बेची थी और भारती एक्‍सा के कथित र्इमेल आईडी से पॉलिसी के कागजात भेजें. भेजे गए मेल में दावा किया गया कि वह हैदराबाद में  आर्इबारडीए का अधिकृत प्रतिनिधि है.

इन अपराधियों ने शिकायतकर्ता से 71.87 लाख का लाभ, साथ में 12 लाख रुपए का ब्‍याज मुक्‍त कर्ज, आजीवन पेंशन का झांसा देकर उनसे 18.98 लाख रुपए जबरन जमा करवाया. ठगे जाने की भनक लगते ही शिकायतकर्ता ने मुंबई सायबर पुलिस, उत्तर क्षेत्र से संपर्क किया. इस मामले की जांच की गई. जांच में ठगी के तार महाराष्‍ट्र, तेलंगाना, उत्‍तर प्रदेश, हरियाणा और दिल्‍ली तक फैले होने का बड़ा खुलासा हुआ.

इन सायबर अपराधियों ने मोबाइल कार्ड के खुदरा विक्रेता के पास जमा कराए गए डॉक्‍युमेंट्स का गलत इस्‍तेमाल कर प्रत्यक्ष रूप से ग्राहकों के नाम पर मिले फर्जी सिम कार्ड का इस्‍तेमाल किया. इस मामले में पुलिस ने अब तक 6 लोगों को गिरफ्तार किया है. कोटक महिंद्रा बैंक और आईसीआई के  दो बैंक एकाउंट को फ्रीज कर दिया है. कई मोबाइल फोन और सिम कार्ड जब्‍त किये गए  है.

सायबर पुलिस को पता चला है कि कुछ आरोपियों के खिलाफ लखनऊ, यूपी और अन्‍य जगहों पर इसी तरह का केस दर्ज है. इसी तरह से फर्जी ऑनलाइन बीमा पॉलिसी बेचने वाले अन्‍य राज्‍यों के गैंग से कनेक्‍शन की जांच की जा रही है.

You might also like

Comments are closed.