Mucormycosis News | बड़ी राहत ! बुलढाणा जिले के 58 मरीजों ने म्यूकोर्मिकोसिस को दी मात

मरीजों ने म्यूकोर्मिकोसिस को दी मात

बुलढाणा (Buldhana News) : ऑनलाइन टीम – कोरोना की दूसरी लहर (Corona Second Wave) के बीच महाराष्ट्र (Maharashtra) में म्यूकोर्मिकोसिस (Mucormycosis News) के केसेस बढ़े है। इस बीच एक राहत की खबर सामने आई है। जिसके मुताबिक जिले में 63 मरीजों में से 58 मरीजों ने म्यूकोर्मिकोसिस (Mucormycosis) को मात दी है। जबकि पांच लोगों की मौत (Death) हो होगी। यानि की जिले में 92 फीसदी मरीजों ने इस बीमारी को हरा दिया है।

इस बीच मौजूदा समय में जिले में एक भी म्यूकोर्मिकोसिस (Mucormycosis) रोगी का इलाज नहीं चल रहा है। यह एक अच्छा संकेत है। दूसरी लहर (Second Wave) में 61,110 लोग संक्रमित हुए। जबकि जिले में 413 लोगों की मौत (Death) हुई थी। जिले में दूसरी लहर मई में पिक पर था। जिसके बाद जिले में म्यूकोर्मिकोसिस (Mucormycosis) की एंट्री हुई थी। इसके अलावा, दवाओं की उच्च लागत और प्रति रोगी 20 से 40 खुराक देने की आवश्यकता के कारण जिले में दवाओं की कमी थी। इस बीच 63 रोगी पाए गए थे। इनमें से पांच की मौत हो गयी।

दरअसल कोरोना (Corona) के बाद इस बीमारी का नाम सुनकर ही लोग डर गए थे। उल्लेखनीय है कि मध्य मई तक बुलडाना (Buldhana) के किसी भी मेडिकल स्टोर (medical store) पर दवा उपलब्ध नहीं थी। इससे भारी कमी पैदा हो गई। इसलिए दवाओं की आपूर्ति सीधे नागपुर (Nagpur) के डिपो से की गई। नतीजतन जिले के मरीजों को इलाज के लिए नागपुर (Nagpur) और औरंगाबाद (Aurangabad) भेजना पड़ा। इसके बाद संरक्षक मंत्री डॉ. राजेंद्र शिंगणे (Dr. Rajendra Shingne) के निर्देश के बाद जिला सामान्य अस्पताल में इन मरीजों के लिए विशेष वार्ड खोला गया।

 

इन मरीजों को खतरा –

 

मधुमेह (diabetes), कम प्रतिरक्षा ( low immunity), ल्यूकेमिया (leukemia), लंबे समय तक स्टेरॉयड (steroids) का उपयोग और खराब पोषण वाले लोगों में फंगल रोग विकसित होने का अधिक खतरा होता है।

इसके अलावा, फंगल मरीज (fungal patient) के नाक, आंख, दांत और जबड़े को प्रभावित करते हैं। इस रोग के लक्षण सिरदर्द, आंखों में सूजन, नाक में सूजन और दांत दर्द है।

 

 

Maharashtra Monsoon | मानसून आने के बाद भी 15 दिनों से नहीं हो रही बारिश, महाराष्ट्र के पांच जिलों में अकाल जैसी स्थिति

 

Nitin Gadkari News | अगले तीन महीने में लेंगे बड़ा फैसला ! पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों पर नितिन गडकरी का बड़ा बयान, बोले – ‘लोगों में हैं आक्रोश का माहौल’

 

 

 

You might also like

Comments are closed.