Loading...

लॉकडाऊन से बोर होकर घर से निकली एमपी की किशोरी पहुंची पुणे 

Loading...
पिंपरी। लॉकडाऊन के दौरान घर में बैठकर बोर होकर घर से निकली एक किशोरी मध्यप्रदेश के खंडवा से सीधे पुणे आ पहुंची। यहां पिंपरी चिंचवड़ के वाकड इलाके में पहुंचने के बाद घरवालों की याद सताने लगी। इससे घबराई किशोरी ने घरवालों से संपर्क करने के लिए एक मोबाइल फोन खरीदा। इसी बीच एक सतर्क युवक ने उसकी हालत देखकर उसे लेकर सीधे वाकड पुलिस थाने पहुंचा। पुलिस ने भी महज तीन घँटे में किशोरी के पुणे में रहनेवाले रिश्तेदारों को ढूंढ निकाला और उसे उनके हवाले कर दिया। किशोरी के पिता और भाई ने पिंपरी चिंचवड़ पुलिस का आभार जताया।
Loading...
वाकड थाने के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक डॉ विवेक मुगलीकर ने बताया कि, रविवार की सुबह 11 बजे सोपान किसनराव पौल (21, निवासी कालाखडक, वाकड, पुणे) नामक युवक एक किशोर उम्र की लड़की को लेकर थाने में आया। उसने बताया कि यह गुमशुदा है और उसे उसके घरवालों के पास जाना है। किशोरी काफी घबराई हुई थी और लगातार यह कहकर रो रही थी कि उसे उसके माता-पिता के पास जाना है। पुलिस ने उसे शांत किया ढाढस बंधाया और यकीन में लेकर पूछताछ की। तब पता चला कि लड़की मध्यप्रदेश के खंडवा की रहनेवाली है। लॉकडाउन की वजह से घर में रहना पड़ रहा था, इससे बोर होकर 21 नवंबर को वह बिना किसी को बताए घर से निकल आयी।
Loading...
उसने पुलिस को बताया कि वह 22 नवंबर की सुबह 10 बजे बस से पुणे आयी। पुलिस ने किशोरी से उसके भाई का फोन नँबर हासिल कर उससे संपर्क किया। तब पता चला कि उसके माता-पिता औऱ भाई खंडवा पुलिस में बेटी के गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराने गए हैं। इसके बाद वाकड पुलिस ने खंडवा पुलिस को लड़की के सुरक्षित रहने की जानकारी दी। उसके घरवालों का खंडवा से यहां तत्काल आना संभव न था उन्होंने पुणे में रहनेवाले अपने रिश्तेदारों को वाकड थाने में भेजा। उनकी पहचान कर पुलिस ने लड़की को उन्हें सौंप दिया।
किशोरी ने जिस दुकान से मोबाइल फोन खरीदा था उसकी जानकारी हासिल कर पुलिस ने मोबाइल लौटाकर किशोरी के पैसे लौटाए। महज तीन घँटे के भीतर वाकड पुलिस ने मध्यप्रदेश की लड़की को उसके परिजनों को सौंपने में सफलता पायी। इसमें पुलिस उपनिरीक्षक विकास मडके और उनकी टीम ने अहम भूमिका निभाई। इस सफलता के लिए पुलिस आयुक्त कृष्णप्रकाश, उपायुक्त, सहायक आयुक्त ने पुलिस टीम और सतर्क युवक सोपान पौल की सराहना की। वहीं लड़की के घरवालों ने पिंपरी चिंचवड़ पुलिस का आभार जताया।
Loading...

Comments are closed.