नागपुर के अहमदनगर एमआईडीसी में परिवार को सबक सिखाने के लिए नाबालिग लड़के का अपहरण; सिर पर पत्थर मारकर ब्लेड से काट डाला नस, हत्याकांड से उपराजधानी में खलबली 

नागपुर, 12 जून : नागपुर से एक खलबली मचाने वाली घटना सामने आई है।  एक नाबालिग लड़के का अपहरण कर आरोपी ने उसकी निर्शंस हत्या कर दी।  यह घटना शुक्रवार की सुबह सामने आई. इस घटना से जिले में खलबली मच गई है।  मृतक का नाम राज उर्फ़ मंगलू राजकुमार पांडे (उम्र 15 वर्ष, नि – अहमदनगर एमआईडीसी ) है।  जबकि अपहरण कर हत्या करने वाले का नाम सूरज रामभुज शाहू (उम्र 25 ) है।  पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

आरोपी का एकतरफा प्रेम

मिली जानकारी के अनुसार राज उर्फ़ मंगलू राजकुमार पांडे के परिवार में पिता, मां, एक भाई और एक बहन, चाचा और उसका परिवार है।  आरोपी सूरज शाहू आजादनगर में एक युवती से एकतरफा प्रेम करता था।  यह जानकारी मिलने पर राज पांडे के चाचा ने आरोपी शाहू को धमकी दी थी कि उस लड़की के पीछा पड़े तो गंभीर परिणाम भुगतने होंगे। इसके बाद से वह राज के चाचा से चिढ़ा हुआ था।  इसी बीच युवती की शादी हो गई।
बदला लेने के लिए मंगलू का अपहरण 
आरोपी ने बदला लेने के लिए मौके की तलाश कर रहा था।  गुरुवार की शाम राज पांडे SRPF के मैदान में नज़र आया।  इसी दौरान आरोपी ने राज को अपने साथ यह कहकर बाइक पर ले गया कि क्रिकेट का मैच चल रहा है उसे देखते है।  आरोपी राज को हुडकेश्वर वंजारी कॉलेज के पास एक निर्जन स्थान में ले गया।  बाइक से उतरकर राज को एक लेआउट की तरफ ले गया। तब तक शाम होने लगी थी।  वहां पर क्रिकेट ग्राउंड नहीं दिखने पर राज को डर लगने लगा और उसने यह बात कहकर वापस चलने की जिद्द करने लगा।  इसी दौरान आरोपी ने राज के सिर पर पत्थर मार दी।  राज नीचे गिर गया तो आरोपी ने निर्दयता से उसके पत्थर से कुचल दिया।  इसके बाद उसने राज का नस ब्लेड से काट दिया।
चाचा का सिर काटकर व्हाट्सअप पर भेजो

राज की हत्या करने के बाद आरोपी ने राज के घर में फ़ोन किया।  उसने कहा कि राज का अपहरण किया है।  वह सकुशल चाहिए तो उसके चाचा का सिर काटकर व्हाट्सअप पर भेजो। राज के घरवालों ने आरोपी को समझाने का बहुत प्रयास किया।  इसके बाद उन्होंने पुलिस से तुरंत संपर्क नहीं किया।  आख़िरकार रात 9 बजे परिवार ने एमआईडीसी पुलिस को घटना की जानकारी दी।
मध्य रात्रि में आरोपी को पकड़ा गया

लड़के के अपहरण और उसके बदले भयंकर मांग की जानकारी मिलने पर थानेदार युवराज हांडे ने तुरंत सीनियर्स को इस बात की जानकारी दी।  इसके बाद पुलिस कमिश्नर अमितेश कुमार, एसीपी डॉ. दिलीप झलके, डीसीपी नुरुल हसन तुरंत एमआईडीसी पुलिस स्टेशन पहुंचे। आरोपी को पकड़ने के लिए पुलिस ने जांच शुरू की। आख़िरकार आरोपी को मध्य रात्रि में बोरखेड़ी के पास से गिरफ्तार कर लिया गया.
नागरिकों में भारी नाराजगी

राज के अपहरण और उसकी हत्या की खबर जंगल में लगी आग की तरफ फैली। नागरिकों ने इस घटना पर गहरा रोष व्यक्त करते हुए भीड़ जमा की।  राज की हत्या की खबर से परिवार के कई लोगों की जान हलक में आ गई थी।
राज उत्तम गायक था

राज एक उत्तम गायक था।  उसकी अंतिम यात्रा निकली तो एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेज़ी से वायरल हुआ।  इस वीडियो ने कई लोगों के आंखों में आंसू ला दिया।  कुछ दिनों पहले राज ने आएगी याद…. मेरी वफाये कभी मुझे भूल न पाओगे गाना गया था. इस गाने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।
You might also like

Comments are closed.