लोणीकालभोर में ‘भाईगिरी’ करने वाले शुभम कामठे की टोली पर मकोका! पुलिस आयुक्त अमिताभ गुप्ता ने अभी तक 22 टोलियों पर की मकोका की कार्रवाई

पुणे : शहर में अपराध को जड़ से मिटाने के लिए पुलिस आयुक्त आपराधिक टोलियो पर मकोका की कारवाई कर रहे हैं। लोणी कालभोर के भाई को झटका देते हुए उसकी टोली पर मकोका की कारवाई की है। इसमे 8 लोग शामिल हैं, 4 लोगो को गिरफ्तार किया गया है, लेकिन टोली का मुखिया फरार हो गया। लोणी कालभोर के अपराधी गैंग पर मकोका की पहली कार्रवाई करते हुए पुलिस आयुक्त ने आने वाले समय में की जानेवाली कारवाई का ट्रेलर दिखाया है। ऐसे में लोगों द्वारा संतोष जताया जा रहा है।

दत्ता भीमराव भंडारी (उम्र 24, नि. पापडेवस्ती, हडपसर), सौरभ विठ्ठल घोलप (उम्र 22, नि. कालेपडल, हडपसर), ऋतिक विलास चौधरी (21) और साहिल फकीरा शेख (उम्र 21) को गिरफ्तार किया गया है। वही इस गैंग का मुखिया शुभम कैलास कामठे (कदमवस्ती, लोणीकालभोर) और अन्य दो फरार है।

शुभम कामठे गैंग का मुखिया है, अन्य दो इसके सदस्य हैं। शुभम लोणीकालभोर में रहता है। अन्य अपराधी हडपसर में रहते हैं। पुरानी दुश्मनी में इस टोली ने एटीएम से पैसे निकालने जा रहे एक युवक पर कोयते से वार कर उसकी निर्मम हत्या करने वाले थे, लेकिन वो किसी तरह स बच गया। इस मामले में हडपसर पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया है। इस मारपीट का सीसीटीवी फुटेज सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। इससे आम लोगों में डर का वातावरण निर्माण हो गया था। हडपसर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। इसी दौरान यह जानकारी सामने आई कि शुभम टोली का मुखिया है और आपसी रंजिश में और भाईगिरी के लिए उसने इस घटना को अंजाम दिया।

इसके बाद हडपसर पुलिस ने इस टोली पर मकोका की कार्रवाई करने का प्रस्ताव उपायुक्त नम्रता पाटिल के पास भेजा था। उन्होने इसकी जांच की। साथ ही प्रस्ताव को पाटिल ने अप्पर पुलिस आयुक्त नामदेव चव्हाण को भेजा था। उन्होने पुलिस आयुक्त अमिताभ गुप्ता के पास इस प्रस्ताव को भेजा उसके बाद उन्होंने कारवाई का आदेश दिया है। पुलिस आयुक्त अमिताभ गुप्ता ने जब से अपना पद संभाला है तब से अपराधियों की शामत आ गई है। आयुक्त ने अभी तक 22 मकोका की कार्रवाई की है।

You might also like

Comments are closed.