पश्चिम बंगाल में भाजपा को हराने के लिए कट्टर दुश्मन CPI(M) से हाथ मिलाएगी ममता!

कोलकाता : समाचार ऑनलाइन – पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा रुकने का नाम नहीं ले रही है। आये दिन भाजपा-टीएमसी कार्यकर्ताओं में झड़प देखने को मिल रही है। इन सबके बीच तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक सनसनी खेस बयान दिया है। ममता ने कहा है कि ‘पश्चिम बंगाल में बीजेपी के बढ़ते प्रभाव को रोकने के लिए लेफ्ट फ्रंट, कांग्रेस और टीएमसी को साथ आना चाहिए।’ एक सभा में बोलते हुए ममता बनर्जी ने कहा, “मुझे आशंका है कि बीजेपी भारत के संविधान को बदल देगी। मुझे लगता है कि हम सभी को जिनमें लेफ्ट और कांग्रेस भी शामिल हैं, बीजेपी का मुकाबला करने के लिए हाथ मिलाना चाहिए।”

Loading...

बता दें कि बंगाल में टीएमसी और सीपीएम राजनीतिक एक दूसरे के कट्टर दुश्मन माने जाते है। बंगाल में टीएमसी के पहले लेफ्ट का ही राज रह चूका है। जिसके बाद ममता सरकार बनी।

ममता ने भले ही खुलेआम कांग्रेस और लेफ्ट को हाथ मिलाने का निमंत्रण दिया हो लेकिन उनके बयान को लेकर कांग्रेस की तरफ से बहुत सकारात्मक प्रतिक्रिया नहीं आई है। बंगाल कांग्रेस के अध्यक्ष सोमेन मित्रा ने कहा कि वे ममता के बयानों और सुझावों पर चलने के लिए नहीं हैं। सीपीआई (एम) नेता हन्नम मोलाह ने ममता बनर्जी को स्वार्थी नेता बताते हुए कहा कि कुछ भी करने से पहले उन्हें पहले अपनी पार्टी को मजबूत बना लेना चाहिए।

Comments are closed.