महाराष्ट्र : भाजपा-राष्ट्रवादी के एक साथ आने की चर्चा पर लगा विराम ; स्थापना दिवस पर भाजपा पर हमला, शिवसेना की तारीफ 

मुंबई, 11 जून : राष्ट्रवादी पार्टी भाजपा के साथ जाएगी, ऐसी चर्चा के बीच राष्ट्रवादी के सभी प्रमुख नेताओं  ने 22वा स्थापना दिवस पर भाजपा पर सख्त टिप्पणी की है।  पार्टी के प्रमुख नेता सांसद प्रफुल्ल पटेल, उपमुख्यमंत्री अजीत पवार, प्रदेशाध्यक्ष जयंत पाटिल के साथ कई नेताओं ने भाजपा पर हमला बोला है।  जबकि पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार ने शिवसेना और बालासाहेब ठाकरे की तारीफ की।

भाजपा की सत्ता के बाद से देश की एकता, अखंडता, सार्वभौमिक विचारों को चोट पहुंचाने का काम जारी है।  लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पत्रकारिता की हालत बेहद दयनीय है।  उन पर किस तरह से दबाव डाला जा रहा है. सभी पत्रकार एक ही सुर, भाषा में कैसे ट्वीट करते है।  यह देखने के बाद लोकतंत्र के  संकट में होने का डर सामने  आता है।  यह बयान उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने दिया है।

 देश में कई राज्यों में हाल ही में हुए चुनाव का रिजल्ट देश की राजनीति में उथलपथल मची है स्पष्ट किया है।  ऐसे समय में देश स्तर पर शरद पवार की बहुत जरुरत है।  यह कहते हुए प्रफुल्ल पटेल ने कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर पार्टी का राजनीतिक  वजन बढ़ाने का काम हमें करना है।
पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की सत्ता आई है।  उनकी अलग पार्टी का गठन केवल तीन विधायकों से हुई थी। लेकिन उन्होंने कठोर संघर्ष करके आज अपनी पार्टी को इतना आगे लाया है।  राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी अपनी स्थापना से ही सत्ता में  है।  हमारे नेता देश के सबसे अनुभवी नेता है।  इसलिए उन्हें ताकत देकर उनके पीछे पुरे महाराष्ट्र को खड़ा करने का काम हमें करना है।

शरद पवार ने कहा कि कोरोना काल में राजेश टोपे अच्छा काम कर रहे है।  खुद की क्षमता उन्होंने इस संकट में साबित की है।  इस कार्यक्रम में सहकर मंत्री बालासाहेब थोरात, मंत्री डॉ. राजेंद्र शिंगणे , राज्य मंत्री संजय बनसोडे, कोषाध्यक्ष हेमंत तकले के साथ विभिन्न सेल के नेता उपस्थित थे।

दिल्ली की सरकार के सामने महाराष्ट्र नहीं झुकी

जयंत पाटिल ने कहा कि दिल्ली की सरकार के सामने महाराष्ट्र कभी नहीं झुकी। राजनीतिक जीवन में स्वाभिमान व सर्वधर्मसमभाव कैसे जगाना है यह हमारी पार्टी और शरद पवार ने सिखाया है।

सुप्रिया सुले कार्यकर्ताओं के साथ बैठी

सांसद सुप्रिया सुले पार्टी कार्यालय के सामने कार्यकर्ताओं के लिए रखी गई कुर्सी पर कार्यक्रम के समापन तक बैठी।  इसकी कार्यक्रम स्थल में खूब चर्चा हो रही थी।  इस मौके पर गृहमंत्री दिलीप वलसे-पाटिल, सांसद सुनील तटकरे, गृहनिर्माण मंत्री जीतेन्द्र आव्हाड, सामाजिक न्याय मंत्री धनंजय मुंडे, अल्पसंख्यक मंत्री नवाब मलिक उपस्थित थे।
You might also like

Comments are closed.