Maharashtra | लोगों को कभी-कभी लगता है आज भी मैं जवान हूं…., देवेंद्र फडणवीस के उस  बयान पर संजय राऊत की तीखी चुटकी 

मुंबई (Mumbai News) : Maharashtra | शिवसेना सांसद और प्रवक्ता संजय राऊत (Sanjay Raut) लगातार विरोधी दलों पर तीखा हमला बोलते रहते है। विरोधी दलों पर कई बार शिवसेना (Shiv sena) की तरफ से  संजय राऊत अपने स्टाइल में हमला  करते है।  हाल ही में राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और मौजूदा विधानसभा विरोधी पक्ष नेता देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने मुख्यमंत्री पद को लेकर दिए गए एक बयान के चर्चा में आने के बाद इस पर अब संजय राऊत ने तीखे शब्दों में निशाना साधा है. देवेंद्र फडणवीस दवारा दिए गए बयान पर मंगलवार को कांग्रेस (Congress) की तरफ से सचिन सावंत (Sachin Sawant) ने भी इसी तरह का निशाना साधा (Maharashtra) था।

 

क्या कहा देवेंद्र फडणवीस ने ?

नवी मुंबई (Navi Mumbai) के एक कार्यक्रम में देवेंद्र फडणवीस ने गणेश नाइक (Ganesh Naik), भाजपा विधायक मंदा म्हात्रे (Manda Mhatre) और अन्य पदाधिकारियों का उल्लेख करते हुए यह बयान दिया था जो वायरल होने लगा है। उन्होंने कहा कि गणेश नाइक, मंदा म्हात्रे, पाटिल साहेब आपकी वजह से मुझे एक दिन भी नहीं लगा कि मैं मुख्यमंत्री नहीं हूं।  मुझे ऐसा लगता है कि आज भी मैं मुख्यमंत्री (Chief Minister Post) हूं।  आपने मुझे इसकी कमी महसूस नहीं होने दी। व्यक्ति किस पद पर है यह महत्वपूर्ण नहीं है बल्कि वह क्या करता है यह महत्वपूर्ण है।  पिछले दो वर्षों में एक भी दिन मैं घर में नहीं रहा और हर दिन जनता की सेवा की।  इसलिए जनता ने मुझे यह कभी अहसास नहीं होने दिया  कि मैं मुख्यमंत्री नहीं हूं।

 

इस बयान पर शिवसेना नेता संजय राऊत (Shiv Sena leader Sanjay Raut) ने चुटकी ली है।  उन्होंने कहा कि लोगों को कभी-कभी लगता है कि अभी मैं जवान हूं।  इस तरह का एक नाटक का मंचन किया गया था।  यह एक युवा का नाटक था।  कई लोगों को लगता है कि वह अभी भी जवान है।  आज भी मैं मुख्यमंत्री। कभी-कभी दिल्ली (Delhi) जाने पर आपको लगेगा कि आप प्रधानमंत्री बनेंगे।
उनकी भावना सही है।  सपने में जीने वाले व्यक्ति। अच्छे  सपने देखे।  सपने में ताकत हो, उसके पंख में अधिक ताकत आये और आकाश में उड़ने के लिए बल मिले, ऐसी मेरी उन्हें शुभकामना है।  उनका जीवन सपने देखने में बीते।
 

फडणवीस ग़लतफ़हमी में रहे

उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र (Maharashtra) गतिमान है।  पिछले कुछ महीने में काम तेज़ी से आगे बढ़ा है।  पिछले आठ दिनों के  काम का लेखाजोखा देखे तो विरोधी दलों को बुरा लगना, पेट में दर्द होना स्वाभाविक है।  विरोधी पक्ष नेता खुद को हमेशा शेडो चीफ मिनिस्टर समझते है।  यह ग़लतफ़हमी उनकी बनी रहे।
सरकारी एजेंसियों दवारा चल रही जांच पर जब उनसे सवाल किया गया तो उन्होंने हर्षवर्धन का उदाहरण दिया।  उन्होंने कहा, हर्षवर्धन पाटिल (Harshvardhan Patil) का स्टेटमेंट पढ़ा।  वे कभी कांग्रेस के नेता थे।  आज भाजपा (BJP) में है।  उन्होंने कहा कि भाजपा में जाने के बाद शांति से नींद आती है।  जांच का साया पीछे नहीं लगता है।  उनके इस एक वाक्य से सब कुछ सामने आ गया है।

 

You might also like

Comments are closed.