Maharashtra | गलत रवैये का अनुसरण करना आढलराव को पड़ा महंगा; विधायक दिलीप मोहिते की टिप्पणी

विधायक दिलीप मोहिते पाटिल

राजगुरुनगर (Rajgurunagar News) : Maharashtra | गलत रवैया अपनानेवाले भगवान पोखरकर जैसे लोगों का अनुसरण करने का काम खेड तालुका के पूर्व सांसद ने किया है। लड़ाई लगानेवाले आढलराव (adhalrao patil) को तालुका फिर से स्वीकार नहीं करेगी। साथ ही सभापति भगवान पोखरकर को हमेशा के लिए राजनीति (Maharashtra) से उखाड़ फेंका, ऐसी तीखी टिप्पणी विधायक दिलीप मोहिते पाटिल (Dilip Mohite Patil) ने की है।

 

खेड पंचायत समिति (Khed Panchayat Samiti) के सभापति पद पर राष्ट्रवादी कांग्रेस के अरुण चौधरी (Arun Chowdhary) का निर्विरोध चुनाव हुआ है। उसके बाद हुए स्वागत समारोह में ऐसा मोहिते पाटिल ने कहा। इस मौके पर जिला परिषद (District Council) की अध्यक्षा निर्मला पानसरे, अरुण चांभारे, शांताराम सोनवणे, बाजार समिति के सभापति विनायक घुमटकर, पूर्व सभापति रामदास ठाकूर, सुरेश शिंदे, कैलाश सांडभोर, राजाराम लोखंडे, पंचायत समिति के उपसभापति चांगदेव शिवेकर, पूर्व सभापति अंकुश राक्षे, सुभद्रा शिंदे, मयूर मोहिते, विलास मांजरे, सुभाष होले के साथ शिवसेना (Shiv sena) के बागी सदस्य उपस्थित थे।

 

मोहिते पाटिल (Mohite Patil) ने कहा कि महाआघाडी की सरकार राज्य में अच्छा काम कर रही है, ऐसे में तालुके में हुए बदलाव का ठीकरा आढलराव ने वरिष्ठ की गलत पद्धति पर फोड़ा। सही वस्तुस्थिति को छिपाया। इसलिए पिछले तीन महीने में सभी तालुकावासी परेशान हो गए हैं। लोगों के काम रुके हुए हैं। विकास काम में रुकावत आई है। पंचायत समिति के सेना सदस्य ने विश्वसघात न करते हुए विवादित व्यक्ति का अनुसरण कर लड़ाई लगाई। पोखरकर गुनहगार हैं। पंचायत समिति (Panchayat committee) सदस्य राजकीय यात्रा पर होने के दौरान उस होटल में पोखरकर ने हंगामा किया। हवा में फायरिंग की। कोयते की दम पर आतंक का निर्माण किया। महिला सदस्यों के साथ मारपीट की।

 

पोखरकर पर कई मामले दर्ज हैं। नाबालिग लड़के से मुझे मरवाने की साजिश की। इसका सबूत मेरे हाथ लगा है। पूर्व सांसद इन बातों पर मिट्टी डाल रहे हैं। आढलराव तीन बार खेड तालुका से चुन कर आए हैं। हालांकि क्या विकास किया है वो जनता को बताएं। हमारी मदद से शिवसेना के पोखरकर को पद मिला। उसे विधायक मोहिते ने सपोर्ट किया था।

हालांकि तय अनुसार इस्तीफा देने के लिए पोखरकर ने मना कर दिया और आगे की घटना हुई, ऐसा सभापति अनिल चौधरी (anil chaudhary) ने कहा।

 

 

Pune Corporation |  पहले 5 महीनों में 22,000 नई संपत्तियों पर कर, निर्माण विभाग को मिले 600 करोड़ रुपये

Mumbai Job Alert | मुंबई में सामान्य प्रशासन विभाग में नौकरी, सैलरी 2 लाख रुपए तक

You might also like

Comments are closed.