Loading...

महाराष्ट्र के मंत्री धनंजय मुंडे पर लगा बलात्कार का आरोप

Loading...

मुंबई : ऑनलइन टीम – एनसीपी नेता और राज्य के सामाजिक न्याय मंत्री धनंजय मुंडे पर एक महिला सिंगर के साथ बलात्कार का आरोप लगा है। महिला सिंगर का आरोप है कि मुंडे ने उसे बॉलीवुड में मौका देने के बहाने बार-बार उसके साथ दुष्कर्म किया। लड़की ने यह भी ट्वीट किया कि पुलिस शिकायत दर्ज नहीं कर रही थी। हालांकि, उसके बाद सोमवार रात को ओशिवरा पुलिस ने लड़की की शिकायत दर्ज कर ली और अब आगे की जांच शुरू कर दी।

Loading...

धनंजय मुंडे पर लगे आरोप के बाद से महाराष्ट्र की राजनीति में हड़कंप मचा हुआ है। इस बीच मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की नेतृत्व वाली ‘महा विकास अघाड़ी’ सरकार में मंत्री धनंजय मुंडे ने अपने ऊपर लगे आरोपों से इनकार किया है, उन्होंने इसे ब्लैकमेल करने की साजिश बताया। गायिका ने सोमवार रात को ट्वीट कर आरोप लगाया था कि 2006 से मुंडे द्वारा उनके साथ बार-बार बलात्कार किया गया। महिला ने ट्वीट में यह भी दावा किया है कि उसकी जान को खतरा है। उन्होंने ने अपने ट्वीट में मुंबई पुलिस, एनसीपी प्रमुख शरद पवार और उनकी बेटी सुप्रिया सुले, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी टैग किया है।

Loading...

उधर, खुद पर लगे रेप के आरोप पर प्रतिक्रिया देते हुए धनंजय मुंडे ने कहा कि यह उन्हें ब्लैकमेल करने और पैसे ऐंठने की एक साजिश है। मुंडे ने एक बयान जारी कर कहा, ‘साल 2003 में वह एक महिला के साथ रिलेशन में आए, शिकायतकर्ता सिंगर उसी की छोटी बहन है। शिकायतकर्ता की बहन के साथ उनके रिश्ते के बारे में उसके परिवार को पता था और हमारे दो बच्चे भी हैं।’ मुंडे ने आगे कहा, मैंने अपना नाम रिश्ते से पैदा हुए बच्चों को दिया है। मैंने बच्चों की जिम्मेदारी ली है क्योंकि वे मेरे साथ रहते हैं। मेरी पत्नी ने बच्चों को परिवार का हिस्सा माना है। मैंने उसे मुंबई में एक फ्लैट खरीदने में मदद की है और उसके भाई ने अपना व्यवसाय स्थापित करने में मदद की है। हालांकि, 2019 के बाद से, अपनी बहन और भाई के साथ महिला ने मुझे ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया और मुझे नुकसान पहुंचाने की धमकी दी।

धनंजय मुंडे 1995 से राजनीति में हैं। उन्होंने दिवंगत भाजपा नेता गोपीनाथ मुंडे से राजनीति सीखी, लेकिन बाद 2010 में वो एनसीपी में शामिल हो गए। फिर 2014 के विधानसभा चुनाव में वह हार गए। बाद में वह विपक्ष के नेता बने। उन्होंने 2019 के विधानसभा चुनाव में परली निर्वाचन क्षेत्र जीता।

Loading...

Comments are closed.