Maharashtra Lockdown: ‘पुणे में 1 जून से एकदम से सभी दुकान खोलने की अनुमति न दें’

पुणे: ऑनलाइन टीम- आनेवाले 1 जून से पुणे में एकदम से अनलॉक न करें, यह राय महापौर मुरलीधर मोहोल ने रखा है। कोरोना की दूसरी लहर का अनुभव देखकर एक ही झटके में सब कुछ अनलॉक करना उचित नहीं होगा। मुरलीधर मोहोल ने कहा कि सभी दुकानों को एक साथ खोलने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए।

पुणे में मीडिया से बात करते हुए उन्होंने इस पर राय रखी। दूसरी लहर के अनुभव को देखते हुए पुणे में पूर्ण अनलॉक उचित नहीं होगा। मोहोल ने कहा कि हम यह राय अगले शुक्रवार को पालक मंत्री अजित पवार के साथ होने वाली बैठक में पेश करेंगे।

हालांकि पुणे शहर में मरीजों की संख्या कम हो रही है, लेकिन इसे तुरंत अनलॉक करने का कोई फायदा नहीं है। इसलिए इसे चरणों में अनलॉक करना आवश्यक है। शुरुआत में सिर्फ अत्यावश्यक दुकानों को ही शनिवार और रविवार को पूरे समय खोलने की अनुमति दी जानी चाहिए। उसके बाद, धीरे-धीरे रियायत दी जानी चाहिए,  ऐसा मुरलीधर मोहोल ने कहा।

‘हम सभी नियमों का पालन करेंगे, लेकिन 1 जून से दुकानें खोलने दें’

हम कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए राज्य सरकार द्वारा लगाए गए सभी नियमों और प्रतिबंधों का पालन करने के लिए तैयार हैं। लेकिन राज्य सरकार को 1 जून से दुकानें खोलने की अनुमति देनी चाहिए, राज्य के व्यापारिक समुदाय ने ठाकरे सरकार से यह आग्रह किया है।

पुणे और मुंबई के व्यापारियों ने ठाकरे सरकार से मांग की है कि उन्हें 1 जून से दुकानें खोलने की अनुमति दे। 31 मई को दुकान बंद हुए 55 दिन हो जाएंगे, इसलिए 50 लाख लोगों का रोजगार खतरे में है। नतीजतन, राज्य सरकार को 1 जून से दुकानों को शुरू करने की अनुमति देनी चाहिए, एफआरटीडब्ल्यू  के अध्यक्ष वीरेन शाह ने कहा था।

अब कुछ भी कार्रवाई करें, लेकिन 1 जून से खुलेंगी दुकान

ठाकरे सरकार अब कोई भी कार्रवाई करती है तो भी हम 1 जून से औरंगाबाद में दुकानें खोलेंगे, यह चेतावनी एमआईएम के सांसद इम्तियाज जलील ने दिया है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे टीवी पर आते हैं और ज्ञान देते हैं। उन्हें राज्य की दृष्टि से क्या अच्छा है वो निर्णय लेना है तो लेने दें। लेकिन औरंगाबाद के लिए हम इस फैसले को स्वीकार नहीं करेंगे। इम्तियाज जलील ने कहा, हम 1 जून से दुकान खोलेंगे।

You might also like

Comments are closed.