महाराष्ट्र : ‘ये सरकार है या तमाशा..?’ देवेंद्र फडणवीस ने सरकार पर उठाये सवाल

मुंबई : ऑनलाइन टीम – महाराष्ट्र सरकार ने घोषणा की है कि इस साल का मानसून विधानसभा सत्र केवल दो दिनों का होगा। यह सत्र 5 और 6 जुलाई को आयोजित किया जाएगा। इस पर पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फडणवीस ने नाराजगी जताई है। फडणवीस ने कहा – एक तरफ राज्य में विभिन्न समुदाय आरक्षण और अन्य मुद्दों पर विशेष सम्मेलनों की मांग कर रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ, राज्य के नेता खुद विरोध और आंदोलन में हिस्सा लेते दिख रहे हैं। लेकिन, जिन्हें निर्णय लेने का अधिकार है, वे नहीं लेते हैं।

फडणवीस ने गुस्से में पूछा कि ये सरकार है या ड्रामा?  फडणवीस ने कहा – हम दो दिवसीय सम्मेलन से सहमत नहीं हैं। अगर सरकार लोगों के मुद्दों को इस तरह से पेश करने जा रही है, तो हमें लोगों की आवाज बननी होगी। यह स्पष्ट है कि तीनों पार्टियों के बीच मतभेद हैं। लेकिन, आप लोगों को गड्ढे में क्यों फेंक रहे हैं। या तो जवाब दे या हार मान लीजिए, लेकिन अपनी राजनीति के लिए लोगों की बलि देना बहुत गलत है।

फडणवीस ने कहा- मुझे नहीं पता कि मुख्यमंत्री या उपमुख्यमंत्री नाराज हैं या नहीं, लेकिन महाराष्ट्र के लोग इन लोगों से नाराज हैं। यह तीनों दलों की नौटंकी है। कांग्रेस ने पदोन्नति पर कड़ा रुख अपनाया।

You might also like

Comments are closed.