महाराष्ट्र : आपमें दम नहीं है तो हमें बताये, चार महीने में आरक्षण देंगे (वीडियो )

मुंबई, 25 जून : ओबीसी राजनीतिक आरक्षण के मुद्दे पर राज्य का राजनीतिक वातावरण काफी गर्मा गया है।  इस विषय पर विरोधी और सत्ताधारी एक दूसरे पर आरोप लगा रहे है।  जबकि ओबीसी आरक्षण के मुद्दे पर भाजपा और भाजपा नेता आक्रामक हो गए है।  विधानसभा में विरोधी पक्ष नेता देवेंद्र फडणवीस ने राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा है।

24 जून को भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक हुई।  इस दौरान ओबीसी राजनीतिक आरक्षण को पहले की तरह लाने की मांग को लेकर देवेंद्र फडणवीस ने महाविकास आघाडी सरकार पर निशाना साधा है।  उन्होंने कहा कि जानबूझकर ओबीसी को राजनीतिक आरक्षण नहीं दिया जा रहा है।  मुद्दा उठा तो केंद्र की तरफ इशारा कर रहे है. अगर आपमें हिम्मत नहीं है तो हमें बताये, अगर हमने चार महीने में, हा हमारी सरकार बनी तो चार महीने में ओबीसी एम्पिरिकल डाटा तैयार कर अगर ओबीसी आरक्षण पूर्ववत नहीं किया तो पद छोड़ दूंगा।
उन्होंने कहा कि भाजपा 26 जून को आंदोलन करने के बाद शांत नहीं बैठेगी।  ओबीसी को राजनीतिक आरक्षण जब तक नहीं दिया जाता है तब तक हम सरकार को सोने नहीं देंगे।  अब यह संघर्ष अटल है।  अगर आपसे नहीं हो रहा है तो मदद मांगे। हम मदद करने के लिए तैयार है।  ओबीसी के लिए संघर्ष करेंगे।  लेकिन अगर ओबीसी को फंसाया तो भाजपा शांत नहीं बैठेगी।
उन्होंने कहा कि इच्छा होनी चाहिए, यहां पर इच्छा नज़र नहीं आ रही है।  जिस वक़्त यह मामला हाई कोर्ट में गया था।  उस वक़्त कोर्ट में तारीख ली जा रही थी और मंत्री सड़क पर मोर्चा निकाल रहे थे. आज देखे इम्पेरिकल डेटा तैयार कर रहे है बल्कि उसके बदले कार्यक्रम हो रहा है।
You might also like

Comments are closed.