Maharashtra | ठाणे के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह सहित पांच लोगों पर चार करोड़ का हफ्ता वसूलने का केस दर्ज 

 

ठाणे, 24 जुलाई : (Maharashtra) मुंबई और ठाणे के तत्कालीन पुलिस कमिश्नर (Commissioner of Police) तथा (Maharashtra) गृह रक्षक दल के महासंचालक परमबीर सिंह (Director General Parambir Singh) और तत्कालीन गृह जांच विभाग (Home Investigation Department) के डीसीपी पराग मणेरे, संजय पुनामिया, सुनील जैन और मनोज घोटकर (DCP Parag Manere, Sanjay Punamia, Sunil Jain and Manoj Ghotkar) इन पांच लोगों के खिलाफ कोपरी पुलिस स्टेशन में 4 करोड़ 68 लाख रुपए का हफ्ता लेने  के मामले में शुक्रवार की सुबह केस दर्ज किया गया। (Maharashtra) मुंबई में इसी तरह के मामले में सिंह सहित 8 लोगों के खिलाफ मरीन ड्राइव पुलिस स्टेशन (Marine Drive Police Station) में केस दर्ज किया गया है।  ऐसे में सिंह की मुश्किलें और बढ़ गई है।

भाईंदर के रहने वाले शरद अग्रवाल (उम्र 37 ) ने शिकायत दर्ज कराई है।  उनसे 2 करोड़ कैश और 2 करोड़ 68 लाख रुपए का चेक लेने का आरोप आरोपियों पर लगा है।  चौंकाने वाली बात यह है कि कोपरी के बारा बंगला परिसर के पुलिस आयुक्त के घर पर यह रकम वसूले जाने का आरोप अग्रवाल ने लगाया है। परमबीर सिंह जब ठाणे के पुलिस कमिश्नर थे उस वक़्त मणेरे जांच विभाग के डीसीपी थे।  नवंबर 2016 से 2018 के बीच यह घटना घटी थी।
अग्रवाल ने अपनी शिकायत में कहा है कि संजय पुनामिया और उसके साथी सुनील जैन, मनोज घोटकर, डीसीपी मणेरे और परमबीर सिंह ने आपस में मिलकर शरद अग्रवाल और उनके भाई शुभम को झूठे मामले में फंसाने की धमकी देकर 2 करोड़ का कैश वसूल किया।
उस वक़्त भाईंदर में शरद की मां द्रौपदीदेवी के नाम की आठ करोड़ रुपए की जमीन केवल एक करोड़ रुपए में खरीदने का डॉक्युमेंट्स बनाकर हफ्ता के रूप में अपने कब्जे में ले लिया।  साथ ही शरद के चाचा श्यामसुंदर अग्रवाल को मोक्का के मामले में फंसाने की धमकी देकर उनसे 2 करोड़ 68 लाख रुपए का सिन्नर (नाशिक ) की जमीन डीड ऑफ़ सेटेलमेंट बनाकर जबरन हफ्ता के रूप में ले लिया।
इसके साथ ही जमीन के दो प्लॉट शरद और उनके चाचा श्यामसुंदर अग्रवाल से जबरन हफ्ता के नाम पर लेने की शिकायत की गई है।
खास बात यह है कि शरद के चाचा बिल्डर श्यामसुंदर ने मुंबई मरीन ड्राइव पुलिस स्टेशन में इससे पहले ही परमबीर सिंह और डीसीपी अकबर पठान सहित 8 लोगों के खिलाफ करोड़ों रुपए का हफ्ता वसूलने का केस दर्ज कराया है।
बिल्डर श्यामसुंदर अग्रवाल को भाईंदर के यूएलसी घोटाला में गिरफ्तार किया गया था।  इस मामले से उन्हें बाहर निकालने के लिए उनके भतीजे शरद अग्रवाल से हफ्ता वसूला गया था।
कोपरी पुलिस के सीनियर्स से यह जानकारी मिली है।  अन्य अधिकारियों ने फ़ोन पर जानकारी देने से इंकार कर दिया है।  लेकिन अतिरिक्त पुलिस कमिश्नर दर्जा के एक अधिकारी पर केस दर्ज होने की बात कबूल की है।
You might also like

Comments are closed.