Maharashtra Crime | 26 करोड़ की वेल मछली का उल्टी पकड़ा, पांच लोग गिरफ्तार ; वन विभाग की बड़ी कार्रवाई

वन विभाग की बड़ी कार्रवाई

ठाणे (Thane News), 13 जुलाई : (Maharashtra Crime) ठाणे वनविभाग (Thane Forest Department) की टीम ने एक बड़ी कार्रवाई की है। वेल मछली (whale Fish) की 26 करोड़ रुपए की उल्टी की बिक्री की जानकारी मुखबिर के जरिये वनविभाग (Forest Department) को मिली थी। इस जानकारी की पुष्टि करने के बाद वनविभाग की टीम ने करोड़ों रुपए की वेल मछली (whale Fish) की उल्टी को कब्जे ले लेकर तस्कर माफिया को पकड़ा है। इसकी तस्करी (smuggling) करने वाले पांच माफिया को वन विभाग ने गिरफ्तार किया है।

करोड़ों रुपए की वेल मछली (whale Fish)  की उल्टी की बिक्री के लिए आने की जानकारी वन विभाग (Forest Department) के अधिकारियों को मिली थी। इस जानकारी के आधार पर टीम ने कार्रवाई के लिए अपने मुखबिरों को काम पर लगा दिया। आख़िरकार मिली जानकारी के अनुसार वन विभाग की टीम ने मुंबई (Mumbai) के मलाड (Malad) और अंधेरी (Andheri) परिसर से वेल मछली की उल्टी की तस्करी करने वाले पांच लोगों को गिरफ्तार (Arrest) कर लिया।

स्पर्म वेल बेहद दुर्लभ और गहरे समुंद्र में वेल मछली (whale Fish) की उल्टी का एक भाग होता है। करीब एक वर्ष से अधिक का समय इस उल्टी को समुंद्र के किनारे आने में लगता है।

भारत की तुलना में विदेशों में अधिक मांग

 

वेल मछली (whale Fish) की उल्टी की भारत (India) के साथ विदेशों में भी भारी मांग है। भारत में वेल मछली की उल्टी प्रति किलो एक करोड़ रुपए में मिलती है। जबकि इंटरनेशनल मार्केट (International market) में प्रति किलो 3 से 4 करोड़ में बिकता है। वेल मछली के उल्टी का बड़ा उपयोग है। यह जानकारी वन विभाग के उप वन संरक्षक गजेंद्र हिरे (Gajendra Hire) ने दी है।

 

उच्च कोटि के सुगंध द्रव्य में होता है उपयोग

 

वेल मछली (whale Fish) की उल्टी का इस्तेमाल भारत (India) और विदेशों में बेहद उच्च कोटि के सुगंधित परफ्यूम , अगरबत्ती बनाने में भी इसका इस्तेमाल होता है। उल्टी की वजह से परफ्यूम की खुशबू आधी समय तक बनी रहती है। वेल मछली के एक किलो उल्टी में करीब हज़ार लीटर महंगी परफ्यूम, रोज के इस्तेमाल वाला सेंट तैयार होता है। इस उल्टी से बाजार में एक किलो में हज़ारों करोड़ का कारोबार (business) होता है। इसलिए उल्टी की कीमत अधिक होती है।

 

उल्टी या वेल मछली का पार्ट्स रखने पर सजा

 

हज़ारों करोड़ का कारोबार करने वाला वेल मछली (whale Fish) की उल्टी या मछली का कोई भी पार्ट अपने पास रखना वन विभाग (Forest department) के कानून के हिसाब से अपराध की श्रेणी में आता है।

इस मामले में तीन साल से 7 साल तक की सजा का प्रावधान है. यह जानकारी उप वन संरक्षक गजेंद्र हिरे (Gajendra Hire) ने दी है।

Adar Poonawalla | तीसरे पक्ष के लिए समान अवसरों पर काम करने के उत्सुक : अदार पुनावाला

 

Antibody Cocktail | मुंबई में एंटीबाडी कॉकटेल का प्रयोग सफल, मृत्यु दर में भारी गिरावट, उपचार का समय भी कम हुआ

 

 

You might also like

Comments are closed.