Maharashtra | जलगांव में NCP का  शिवसेना को झटका, पूर्व विधायक कैलाश पाटिल के हाथ में राष्ट्रवादी की घड़ी 

जलगांव (Jalgaon News) : Maharashtra | कल भाजपा (BJP) के 11 नगरसेवकों ने  शिवसेना (Shiv sena) में प्रवेश किया था।  ये सभी नगरसेवक एकनाथ खड़से (Eknath Khadse) के गुट के थे।  शिवसेना दवारा इन नगरसेवकों को गले लगाए जाने के बाद अब राष्ट्रवादी (Nationalist) ने शिवसेना को एक जोरदार झटका दिया है।  शिवसेना के पूर्व विधायक कैलाश पाटिल (Kailash Patil) के साथ जिला बैंक के संचालक और शिवसेना महिला आघाडी अध्यक्षा इंदिरा पाटिल (Indira Patil) ने राष्ट्रवादी कांग्रेस में प्रवेश (Maharashtra) किया   है।

 

शिवसेना के पूर्व विधायक कैलाश पाटिल ने राष्ट्रवादी कांग्रेस (Nationalist Congress) में प्रवेश किया है।  उनके प्रवेश  के जरिये  एनसीपी के एकनाथ खड़से ने  शिवसेना को बड़ा झटका दिया  है।  इस मौके पर शिवसेना (Shiv sena) के अन्य स्थानीय पदाधिकारी  भी राष्ट्रवादी (Maharashtra) में शामिल हो गए।
महाविकास आघाडी दवारा तय फॉर्मूले के अनुसार आघाडी के पार्टी के पदाधिकारी अपने आघाडी धर्म का पालन करेंगे।  इसके बावजूद बोदवड मुक्ताईनगर के नगरसेवकों को  शिवसेना प्रवेश देकर इस नियम को तोडा गया।  इस वजह से अब खड़से के निकटवर्ती का राष्ट्रवादी में प्रवेश का रास्ता साफ़ हो गया। यह एकनाथ खड़से (Eknath Khadse)  के एक करीबी ने कहा है।

कल 11 नगरसेवक शिवसेना में हुए थे शामिल

जलगांव जिले में एकनाथ खड़से समर्थक भाजपा के 11 नगरसेवक शुक्रवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Chief Minister Uddhav Thackeray) की उपस्थिति में शिवसेना में प्रवेश किया था. शिवसेना नेता और जलगांव के पालकमंत्री गुलाबराव (Gulabrao) भी इस मौके पर मौजूद थे।  उद्धव ठाकरे ने सभी नगरसेवकों के हाथ में शिवबंधन बांधा।
कुछ महीने पहले जलगांव में शिवसेना ने भाजपा को बड़ा झटका दिया था।  जलगांव मनपा (Jalgaon Municipal Corporation) के महापौर चुनाव (Mayoral Election) में भाजपा के 27 नगरसेवकों को सेना ने अपने पक्ष में कर लिया था।  इसकी वजह से जलगांव मनपा में सेना का भगवा फहराया था।

शिवसेना वर्सेज राष्ट्रवादी

महाविकास आघाडी में सब कुछ ठीक नहीं होने की  कई घटना सामने आ चुकी है।  कुछ दिनों पहले राष्ट्रवादी के सीनियर नेता और नाशिक के पालकमंत्री छगन भुजबल (Chhagan Bhujbal) और शिवसेना विधायक सुहास कांदे (Suhas kande) के बीच जमकर वाकयुद्ध हुआ था।  इसके बाद अब विधायक सुहास कांदे ने भुजबल के खिलाफ सीधे हाईकोर्ट (High Court) पहुंच गए है।  योजना समिति के फंड भुजबल दवारा बेचे जाने का आरोप विधायक सुहास कांदे ने लगाया है।
महाविकास आघाडी के दो नेताओं में फिर से विवाद में उफान आता नज़र आ रहा है।  शिवसेना विधायक सुहास कांदे ने भुजबल के खिलाफ हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया हैं।  योजना समिति का फंड भुजबल दवारा बेचे जाने का आरोप विधायक सुहास कांदे ने लगाया है। इस मामले की जांच के लिए सुहास कांदे हाईकोर्ट पहुंच गए है।  इस याचिका में जिलाधिकारी और जिला योजना अधिकारी भी प्रतिवादी है।  विधायक सुहास कांदे का दावा है कि भुजबल दवारा फंड बेचे जाने के उनके पास 500 सबूत है।

 

 

Pune News | अक्षर का रंग उड़ा देखकर अजीत पवार का पारा चढ़ा; दो घंटे का समय देकर अधिकारियों को लगाया काम पर

Mumbai | मुंबई में भी स्कूल खुलेंगे ? महापौर ने दी महत्वपूर्ण जानकारी

You might also like

Comments are closed.