महाराष्ट्र : सामाजिक न्यायमंत्री धनंजय मुंडे की बड़ी घोषणा ! 10वी परीक्षा में 90% से अधिक अंक लाने वाले अनुसूचित जाति के विधार्थियों को 2 लाख अनुदान 

मुंबई, 25 जून : दसवीं की परीक्षा में 90% से अधिक अंक लाने वाले अनुसूचित जाति और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग से विधार्थियों को प्रोफेशनल हाई एजुकेशन की तैयारी के लिए 11वी और 12वी इन दो वर्षों में हर साल एक लाख के हिसाब से 2 लाख रुपए की सब्सिडी डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर के नाम पर देने की घोषणा राज्य के सामाजिक न्यायमंत्री धनंजय मुंडे ने की है. इस योजना का लाभ उठाने के लिए विधार्थियों के अभिभावकों की कुल वार्षिक आय 2. 5 लाख रुपए से कम होना चाहिए।  साथ ही सरकारी नौकरी करने वाले अभिभावक के बच्चों को यह लाभ नहीं मिलेगा।

विधार्थी व पालक संगठन दवारा की जा रही मांग को देखते हुए यह योजना लागू करने को लेकर धनंजय मुंडे ने निर्देश दिया था।
बार्टी के 30वा नियामक मंडल की बैठक हाल ही में हुई है। असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले, कम वेतन पाने वाले या कॉन्ट्रैक्ट या प्राइवेट क्षेत्र में काम करने वाले अनुसूचित जाति के गरीब परिवारों के विधार्थी को MH-CET, JEE, NEET जैसे प्रोफेशनल कोर्स की पूर्व तैयारी के लिए यह रकम काफी मददगार साबित होगा।
इस योजना को पारदर्शी रूप से डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर संसोधन व प्रशिक्षण संस्था (बार्टी ) अमल में लाएगी।
इसके लिए इन्कम और जाति प्रमाण पत्र दाखिल करना अनिवार्य है।  खास बात यह है कि इस योजना के लाभार्थियों की संख्या असीमित होने की जानकारी बार्टी के महासंचालक धम्मज्योति गजभिये ने दी है।
You might also like

Comments are closed.