Mahadev Jankar | हमारी सरकार थी तब कहां विलय हुआ ? जनता अब होशियार हो गई है, महादेव जानकर ने भाजपा को दिखाया आईना

बुलडाणा : Mahadev Jankar | एसटी महामंडल (MSRTC)  सरकार में विलय करने की मांग को लेकर राज्‍य के एसटी कर्मचारियों की पिछले कुछ दिनों से हड़ताल जारी है. एसटी कर्मचारियों की हड़ताल (ST workers strike ) समाप्‍त करने के लिए कई तरह के प्रयास किए जा रहे है. लेकिन हड़ताली अपनी मांग पर अड़े है. इस दौरान भाजपा की सहयोगी पार्टी रासप के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष महादेव जानकर (Mahadev Jankar) ने एसटी विलय पर बयान देकर भाजपा को आईना दिखाया है. उन्‍होंने कहा कि जब हमारी सरकार थी तभी यह मुद्दा सामने आया था. तब कहां विलय हुआ?

तब कहां विलय हुआ?

मुंबई के आजाद मैदान में भाजपा के विधायक गोपीचंद पडलकर और सदाभाउ खोत के नेत़ृत्‍व में एसटी कर्मचारियों का आंदोलन चल रहा है. इस बीच स्‍वाभिमानी शेतकरी संगठन के नेता रविकांत तुपकर ने महादेव जानकर से मुलाकात की. इस मौके पर पत्रकारों से बात करते हुए जानकर ने कहा कि हमारी सरकार थी तभी यह मुद्दा सामने आया था. तब कहां विलय हुआ था ? सड़क पर कुछ और बोलते है और घर के अंदर जाने पर कुछ और बोलते है. सिस्‍टम के भाग के रूप में बात करें.

रविकांत तुपकर का बुलढाणा में आंदोलन

शेतकरी संगठन के नेता रविकांत तुपकर ने बुलढाणा में आंदोलन शुरू कर रखा है. महादेव जानकर ने बुलढाणा जाकर तुपकर से मुलाकात की. उन्‍होंने कहा कि रविकांत तुपकर हमारे अच्‍छे दोस्‍त है. उनसे मिलने आया हूं. तुपकर आंदोलन के कार्यकर्ता है. सरकार किसानों की मांग के  मुद्दे  पर चर्चा करने के लिए उन्‍हें बुलाती है. एक-दूसरे के सुख दुख में शामिल होना चाहिए इसलिए मैं आया हूं.

You might also like

Comments are closed.