बिहार में 15 मई तक लॉकडाउन, कल हाई कोर्ट ने लॉकडाउन को लेकर पूछा था सवाल

पटना : बिहार में कोरोना बड़ी तेजी से पांव पसार रहा है। ऐसे में मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने 15 तक बिहार में लॉकडाउन लगाने का आदेश दिया है। पिछली कई दिनों से की जा रही तमाम कोशिशो के बावजूद भी कोरोना पर नियंत्रण नहीं पाया जा सका। इसलिए सरकार ने लॉकडाउन का फैसला लिया। नीतीश कुमार ने एक ट्वीट कर इसकी जानकारी दी।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ट्वीट करते हुए लिखा कि कल सहयोगी मंत्रीगण एवं पदाधिकारियों के साथ चर्चा के बाद बिहार में फिलहाल 15 मई 2021 तक लॉकडाउन लागू करने का निर्णय लिया है। इसके विस्तृत मार्गनिर्देशिका एवं अन्य गतिविधियों के संबंध में आज ही आपदा प्रबंधन समूह को कार्रवाई करने हेतु निर्देश दिया गया है।

पटना हाईकोर्ट ने पूछा था सवाल

बिहार में कोरोना संक्रमण के विस्तार के बाद पटना हाईकोर्ट ने राज्य सरकार से सवाल किया था। कोर्ट ने राज्य सरकार से पूछा कि लॉकडाउन लगाने की क्या तैयारी है। अदालत ने मंगलवार को सरकार को जवाब देने को कहा था। न्यायमूर्ती चक्रधारी शरण सिंह और न्यायमूर्ति मोहित कुमार शाह की खंडपीठ ने सुनवाई करते हुए मौखिक रूप से सरकार के सिस्टम को फ्लॉप बताया था। साथ ही महाधिवक्ता से कहा कि कोरोना की रोकथाम के लिए सरकार के पास कोई इंतजाम नहीं है। ऐसे में लॉकडाउन लगाने का फैसला क्यों नहीं लिया जा रहा है। इस पर सरकार की तरफ से कोई जवाब नहीं दिया गया तो सुनवाई को स्थगित कर मंगलवार को जवाब देने के लिए कहा। ऐसे में अब मंगलवार को सरकार ने लॉकडाउन की घोषणा ही कर दी।

प्रतिदिन 10 हजार के पार आ रहे पॉजिटिव केस

सोमवार को बिहार में कोरोना संक्रमण के 11407 नए मामले सामने आए। वही 82 मरीजो की मौत हो गई। ने मामले सामने आने के बाद राज्य में कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या 1,07,667 पहुंच गई है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी किए गए रिपोर्ट के अनुसार सोमवार को राज्य में संक्रमण के 11407 केस आए हैं। राजधानी पटना में सर्वाधिक 2028 नए संक्रमित मिले, गया में 662, बेगूसराय में 510, वैशाली में 1035, पश्चिमी चंपारण 549 और मुजफ्फरपुर 653 नए कोरोना मरीज मिले हैं। राज्य में एक दिन में 72,658 सैंपल की जांच की गई।

सीएम ने लिया था जायजा

सोमवार को मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने पटना की सड़को पर उतरकर जायजा लिया था। इस दौरान उनके साथ कई अधिकारी मौजूद थे। मुख्यमंत्री ने कई इलाको में जाकर निरीक्षण किया। राजधानी पटना की सड़को पर घूम-घूमकर जमीनी हकीकत को देखने और समझने के बाद अधिकारियों से बातचीत भी किए। CM नीतीश कुमार उन इलाकों से गुजर रहे थे जिन-जिन इलाकों में भीड़ रहती है। वो इस बात का अंदाजा लगा रहे थे कि कोरोना महामारी में लोग जागरुक हैं कि न

You might also like

Comments are closed.