1 जून तक बढ़ा लॉकडाउन… महाराष्ट्र में एंट्री के लिए कोरोना  टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव होना अनिवार्य 

ऑनलाइन टीम. मुंबई : महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण की स्थिति भले ही आंकड़ों में कुछ सुधरी है, पर जमीनी हकीकत लगातार डरा रहे हैं। विभिन्न क्षेत्र के जानकारों से रायशुमारी के बाद  महाराष्ट्र सरकार ने राज्य में लॉकडाउन की अवधि को एक जून तक के लिए बढ़ाने का फैसला किया है। इस दौरान पहले की तरह ही प्रतिबंध जारी रहेंगे। इस बार सख्ती बरतते हुए महाराष्ट्र में एंट्री के लिए कोरोना की टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव होना अनिवार्य कर दिया है। नए गाइडलाइन्स की मुताबिक आरटी-पीसीआर टेस्ट रिपोर्ट में निगेटिव होने पर ही लोगों को एंट्री मिलेगी। टेस्ट का प्रकार आरटी-पीसीआर होना चाहिए। टेस्ट रिपोर्ट यात्रा के समय से 48 घंटे पहले का नहीं हो।

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बुधवार रात आठ बजे से राज्य में कड़ी पाबंदियाँ लागू करने की बात कही है। भले ही उन्होंने इसे लॉकडाउन का नाम नहीं दिया, लेकिन कर्फ़्यू से थोड़ा ज़्यादा और लॉकडाउन से थोड़ा कम ही माना जा रहा है। कई डॉक्टरों ने ये कहते हुए इसे जायज़ ठहराया कि इससे संक्रमण का चेन टूटेगा और हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार करने का वक़्त मिल जाएगा।

सरकार का मानना है कि यह परेशानी इसलिए आई है, क्योंकि लोगों ने मास्क पहनना, हाथ धोना और सोशल डिस्टेंसिग से नाता तो तोड़ ही लिया। बुख़ार को भी हल्के में लेना शुरू कर दिया। नतीजा लोग अस्पताल देर से पहुंचने लगे। वो भी तब जब स्थिति हाथ से निकल गई। नतीजा रोज आ रहे नए आंकड़ों में देखा जा सकता है। इसलिए ऐसा कदम उठाना पड़ रहा है। महाराष्ट्र द्वारा जारी नएआदेश में कहा गया है कि राज्य में कोरोना के संक्रमण को देखते हुए आपदा प्रबंधन एक 2005 के शक्तियों का प्रयोग करते हुए लॉकडाउन को 15 मई से बढ़ाकर एक जून 2021 की सुबह सात बजे तक किया जाता है।

You might also like

Comments are closed.