Kirit Somaiya | ठाकरे-पवार सरकार घोटालेबाज, NETFLIX पर डॉक्यूमेंट्री बन सकती है; किरीट सोमैया ने कसा तंज

मुंबई (Mumbai News) : Kirit Somaiya | महाराष्ट्र (Maharashtra) की ठाकरे और पवार सरकार घोटालेबाज है और अजित पवार (Ajit Pawar) के घोटाले पर एक नेटफ्लिक्स डॉक्यूमेंट्री (Netflix Documentary) बन सकती है, ऐसी टिप्पणी किरीट सोमैया (Kirit Somaiya) ने की है। उन्होंने दावा किया कि अजित पवार की संपत्ति  की जानकारी लेने के लिए लगातार 7 दिनों से छापेमारी चल रही थी और यह देश में अब तक की सबसे बड़ी छापेमारी थी। उन्होंने कहा कि अजीत पवार की दीवार के अंदर लॉकर में कुछ मिला, सर्विस क्वार्टर के अंदर जमीन में कुछ मिला है।

 

पंक्ति दर पंक्ति

 

अब तक अजित पवार से जुड़े 24 ठिकानों पर छापेमारी (Raid) की जा चुकी है और 57 लोगों से पूछताछ की जा चुकी है। पिछले चार दिनों से पवार पर इनकम टैक्स (Income Tax) के छापे चल रहे हैं, लेकिन पैसों की कुल लागत का कुछ पता नहीं चल रहा है ऐसा दावा सोमैया ने किया है। उन्होंने कहा कि आप पुणे (Pune) में जिधर भी देखें, पवार के नाम पर ही सातबारा है। जब रिकॉर्ड पर इतनी संपती है तो प्रत्यक्ष में कितनी संपत्ति होगी, ऐसा सवाल उन्होने उठाया।

 

जरंडेश्वर कारखाना घोटाला दोहराया

 

सोमैया ने दावा किया कि जरंडेश्वर शुगर फैक्ट्री (Jarandeshwar Sugar Factory) के सदस्य आए और उनसे मिले। उन्होंने दावा किया कि 26,000 सभासदों के कारखाने को हटा दिया गया और वह तब से पूछ रहे हैं कि इस कारखाने का मालिक कौन है। उन्होंने दावा किया कि उच्च जरंडेश्वर चीनी कारखाने की खरीद में घोटाला (Scam) हुआ था और दावा किया कि उनके पास दस्तावेज हैं। सोमैया ने अजित पवार पर आरोप लगाया है कि जब वह वित्त मंत्री थे तब उन्होंने एक नीलामी की और इसे अपनी गुमनाम कंपनी को बेच दिया।

 

अजीत पवार की बहनों का संदर्भ

 

फैक्ट्री खरीदने वाली गुमनाम कंपनी में इसकी निदेशक विजया पाटिल (Vijaya Patil), उनके पति मोहन पाटिल (Mohan Patil) और एक अन्य नीता पाटिल (Neeta Patil) हैं। वह अजित पवार की बहन हैं। इसलिए संबंध न होने के बाद ही बहन के कार्यालय पर छापा (Raid) मारने का अजित पवार का दावा झूठा साबित हुआ। उन्होंने यह भी सवाल किया कि क्या अजित पवार की बहनों को उनके नाम पर बेनामी संपत्ति की खरीद की जानकारी थी।

 

पवार परिवार की भागीदार

 

 नीता पाटिल, विजया पाटिल और मोहन पाटिल की कल्पतरु कंपनी है। इसकी अजित पवार (Ajit Pawar) की कंपनी में निवेश है। उन्होंने दावा किया है कि जरंडेश्वर फैक्ट्री (Jarandeshwar Factory) के 90 फीसदी शेयर किसी न किसी तरह से पवार परिवार और उनके सहयोगियों के हैं।

 

Pune | हसन मुश्रीफ ने रिश्तेदार को कॉन्ट्रैक्ट देकर करोड़ों रुपए डकारा

You might also like

Comments are closed.