मनसे और राष्ट्रवादी नेताओं में जुबानी जंग, संदीप देशपांडे ने राज्य सरकार पर लगाए आरोप

मुंबई : ऑनलाइन टीम – महाराष्ट्र में पिछले कुछ दिनों में कोरोना की संख्या में फिर से वृद्धि देखी जा रही है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रविवार को इस पर राज्य के लोगों को संबोधित भी किया। उन्होंने लोगों से सावधान रहने की अपील भी की। इस बीच एमएनएस ने राज्य में बढ़ते कोरोना मुद्दे को लेकर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और महाविकास की सरकार की आलोचना की है।

मनसे नेता संदीप देशपांडे ने राज्य सरकार पर कोरोना की बढ़ती संख्या पर सवाल उठाया है। मनसे नेता संदीप देशपांडे ने अपने बयान में कहा है कि राज्य सरकार विधायिका के बजट सत्र की अवधि को कम करने के लिए कोरोना के झूठे आंकड़े जारी कर रही है। इसका जवाब राष्ट्रवादी के प्रदेशाध्यक्षा रुपाली चाकणकर ने ट्वीट कर दी।

रुपाली चाकणकर ने की ट्वीट –

https://twitter.com/ChakankarSpeaks/status/1363868139134484481

क्या कहा संदीप देशपांडे –

संदीप देशपांडे ने कहा कि सावधान फ़िलहाल कोरोना का नया स्ट्रेन आया है। जिसका नाम विधिमंडळ अधिवेशन कोरोना है। जो शरीर पर कम लेकिन स्वतंत्रता पर अधिक प्रभाव डालता है। इस आरोप के बाद कई लोग मुझे ट्रोल करेंगे, लेकिन जो सच में मैं बोलूंगा ही। राज्य में कोरोना का आंकड़ा कहां बढ़ा है। यह एक सवाल है। कृपया जनता को भयभीत न करे। विधायी सत्र आयोजित नहीं करना चाहते हैं मत कीजिये। अध्यक्ष का चुनाव नहीं करना मत कीजिये। लेकिन लोगों को भयभीत क्यों कर रहे है। उन्होंने यह भी सवाल उठाया है कि वर्तमान में एनसीपी मंत्रियों के साथ क्या हो रहा है।

वहां किसानों का बड़ा आंदोलन चल रहा है। लेकिन कोरोना नहीं है।  पिछले चार महीना पहले राज्य में ग्राम पंचायत का चुनाव हुआ। पेट्रोल के दाम बढ़ने पर आंदोलन तब कोरोना नहीं है लेकिन अधिवेशन के समय कोरोना बहुत फ़ैल रहा है। ऐसा टिप्पणी देशपांडे ने की है।

You might also like

Comments are closed.