लगातार 32वीं बार जांच रिपोर्ट पॉजिटिव, महिला बनी चुनौती 

भरतपुर. ऑनलाइन टीम : देश ही नहीं, दुनिया कोरोना की चुनौती का सामना कर रही है, लेकिन ताजा मामले में कोरोना की रिपोर्ट ही चुनौती बन गई है। केस राजस्थान के भरतपुर शहर से जुड़ा है।

अपना घर आश्रम में पिछले 5 महीने से कोरोना वायरस से जंग लड़ रही शारदा देवी की लगतार 32वीं जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। पांच महीनों से कोरोना संक्रमण का दंश झेल रही महिला शारदा देवी को कोविड-19 से छुटकारा क्यों नहीं मिल पा रहा है, इसे लेकर डॉक्टर भी चिंतित हैं।

शारदा देवी का मामला मेडिकल साइंस के लिए ही पहेली बन गई है। दरअसल जब देश में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते ही रहे, तो सरकार ने सबसे पहले ट्रेसिंग पर जोर दिया और इसके तहत क्रम से लोगों की जांच कराई जाने लगी। जो पॉजिटिव मिले, उनके संपर्क सूत्रों को तलाश गया और उनकी जांच की गई, ताकि मामले आगे नहीं बढ़े। इसी क्रम में शारदा देवी की भी जांच की गई।

जानकारी के अनुसार, शारदा देवी के माता-पिता का निधन हो गया था। और ससुराल वालों ने भी घर से निकाल दिया था। उसके बाद महिला को अपना घर आश्रम में रखा गया।  महिला की पहली जांच रिपोर्ट 4 सितम्बर को आई थी। इसमें शारदा कोविड-19 पॉजिटिव पाई गई थी। उसके बाद पांच महीनों में महिला की 31 बार जांच करवाई गई है फिर भी उसकी सभी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है।

You might also like

Comments are closed.