भारतीय शेर ढेर…इंग्लैंड के हाथों 227 रनों की शर्मनाक हार 

चेन्नै. ऑनलाइन टीम : इंग्लैंड ने भारत को चेन्नै में सीरीज के पहले मैच में 227 रनों से हरा दिया। भारत के सामने चौथी पारी में 420 रन का लक्ष्य था, लेकिन मंगलवार को मैच के आखिरी दिन भारत की दूसरी पारी 192 रन पर सिमट गई। कप्तान कोहली ने दूसरी पारी में सबसे ज्यादा 72 रन बनाए। इंग्लैंड की ओर से बाएं हाथ के स्पिनर जैक लीच ने चार विकेट लिए। भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने इस हार के बाद माना कि उनकी टीम ने इंग्लैंड पर ज्यादा दबाव नहीं डाला।   तेज गेंदबाजों और अश्विन ने पहल पारी में अच्छी गेंदबाजी की, लेकिन साथ ही हमें रनों पर लगाम लगाने की जरूरत थी, ताकि कुछ दबाव बनाया जा सके।’

इंग्लैंड ने पहली पारी में 578 और दूसरी पारी में 178 रन बनाए थे। जबकि, टीम इंडिया ने पहली पारी में 337 रन बनाए थे। इस लिहाज से उसे जीत के लिए 420 रन का टारगेट मिला था, जिसे टीम इंडिया हासिल नहीं कर सकी और दूसरी पारी में 192 रन पर सिमट गई। स्पिनर जैक लीच ने भारतीय टीम के 4 खिलाड़ियों को पवेलियन भेजा।

इंग्लैंड की रन के लिहाज से चेन्नई में भी सबसे बड़ी जीत है। इससे पहले उसने 1934 में टीम इंडिया को 202 रन से हराया था। इंग्लिश टीम चेन्नई में खेले गए 1977 के टेस्ट में भारत को 200 रन से भी हरा चुका है। ओवरऑल भारत अपने घर में रन के लिहाज से 342 रन से हार चुका है। उसे 2004 के नागपुर टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया ने हराया था।

भारतीय जमीन पर रन के लिहाज से इंग्लैंड की यह सबसे बड़ी जीत है। इससे पहले इंग्लैंड ने भारत को उसी के घर में 212 रन से 2006 मुंबई में हराया था। साथ ही टीम इंडिया की चेन्नई के चेपक स्टेडियम में 22 साल बाद टेस्ट में पहली हार है। भारत को यहां पिछली बार जनवरी 1999 में पाकिस्तान के हाथों 12 रन से हार झेलनी पड़ी थी। इसके बाद टीम इंडिया यहां आठ टेस्ट मैच खेल चुकी है। इनमें पांच में भारत को जीत मिली और तीन ड्रॉ रहे हैं।

You might also like

Comments are closed.