पत्थरबाजों को होगी उम्रकैद की सजा,  सख्त कानून लाएगी शिवराज सरकार  

इंदौर . ऑनलाइन टीम : पत्थरबाजों की फितरत घाटी से निकलकर देश के अन्य भागों में भी पहुंचने लगी है। इसे देख राज्य सरकार भी संजीदा होने लगी हैं। हम यहां बात कर रहे हैं मध्य प्रदेश की। वहां की शिवराज सिंह चौहान ने पत्थरबाजों के खिलाफ सख्त कानून लाने का फैसला किया है, मगर सवाल यह है कि घाटी की शांति में खलल डालने वाले पत्थरबाजों की फितरत अमन पसंद राज्य तक आखिर पहुंची कैसे?

मुख्यमंत्री का यह उपरोक्त बयान अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर जन-जागरण के लिए चंद रोज पहले पश्चिमी मध्यप्रदेश में निकाली गईं कुछ वाहन रैलियों पर पथराव और हिंसा की घटनाओं के बाद आया है। बता दें कि मध्यप्रदेश में लव जिहाद को लेकर कानून बन चुका है। विधानसभा का सत्र ना होने की वजह से सरकार ने इसे अध्यादेश के जरिए लागू करने का फैसला किया। चौहान ने कहा कि मैं मध्यप्रदेश की धरती पर लव जिहाद या ऐसा कोई काम किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करूंगा, जिसमें हमारी भोली-भाली बेटियों को बहलाया-फुसलाया जाता है, उनका दमन किया जाता है, उन्हें लालच दिया जाता है और फिर उनकी जिंदगी से खेला जाता है। इसलिए मध्य प्रदेश सरकार पत्थरबाजों के खिलाफ जिस कानून पर काम कर रही है, उसके प्रावधान सख्त किए जाने की तैयारी है। इसके तहत पत्थरबाजों के खिलाफ गैर जमानती अपराध दर्ज किया जाएगा।

इतना ही नहीं अगर किसी पत्थरबाज की वजह से सरकारी या जानमाल का कोई नुकसान होता है, तो फिर इसकी वसूली उसी से की जाएगी। अगर जरूरी हुआ तो आरोपी की संपत्ति जब्त कर नुकसान की भरपाई की जाएगी। धार्मिक स्थलों की आड़ लेकर पत्थरबाजी करने पर धार्मिकस्थल को अधिग्रहित करने की कार्रवाई किये जाने जैसे प्रावधान की भी तैयारी है।

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि पत्थरबाजों के खिलाफ कानून बनाने को लेकर प्रक्रिया शुरू हो गई है। एक महीने के भीतर इस कानून का प्रारूप तैयार कर लिया जाएगा और आने वाले दिनों में इसे अमल में लाया जाएगा। इस कानून के तहत पत्थरबाजों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के प्रावधान किए जाने की तैयारी है।

You might also like

Comments are closed.