संसद में शिवसेना विरोधी खेमे में ; राजग की बैठक का निमंत्रण नहीं 

नई दिल्ली : समाचार ऑनलाइन – संसद के शीतकालीन सत्र के मद्देनज़र आज होने वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की  बैठक का निमंत्रण शिवसेना को न भेजकर भाजपा ने अपना रुख साफ कर दिया है ।   राज्यसभा में शिवसेना सदस्य की जगह बदलकर उन्हें विरोधी खेमे में बिठाने की पहले से ही तैयारी हो चुकी है ।
राजग की स्थापना बालासाहेब ठाकरे ने की थी  
दिल्ली में शिवसेना के लोकसभा के नेता विनायक राऊत ने इस संबंध में कहा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की बैठक का निमंत्रण नहीं मिलने का सवाल खड़ा नहीं होता है ।  राज्यसभा में शिवसेना के सदस्य की जगह बदलने को समझा जा सकता है ।  राजग में शिवसेना का स्थान नहीं होने की बात करने वाले को यह ध्यान रखना चाहिए कि राजग की स्थापना शिवसेना प्रमुख बालासाहेब ठाकरे की वजह से हुई थी ।
शिवसेना भाजपा को घेरेगी 
इस सत्र में इस बार बीजेपी-शिवसेना में संघर्ष दिख सकता है ।  सभागृह में भाजपा की खिंचाई करने का एक भी मौका नहीं छोड़ने का मन शिवसेना ने बनाया है ।   शिवसेना-कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस के संभावित गठबंधन का प्रतिबिंब लोकसभा और राज्यसभा में दिखेगा ये साफ है ।  ऐसा होता है तो राष्ट्रीय स्तर के कुछ मुद्दों पर इन तीनों की एकता देखने को मिल सकती है ।
भाजपा को परिणाम भोगना होगा 
विनायक राऊत ने कहा कि भाजपा को जब देश में कोई पूछ नहीं रही थी तब शिवसेना  प्रमुख ने आसरा दिया था ।  शिवसेना भाजपा का आधार थी. अब आधार को झटका देने का काम भाजपा नेता कर रहे हैं ।  भाजपा को इसका परिणाम भोगना होगा।

Comments are closed.