राज्य सरकार सतर्क रहती तो ये नौबत नहीं आती : देवेंद्र फडणवीस

मुंबई : राज्य में कोरोना का प्रभाव बढ़ता जा रहा है। इस पृष्ठभूमि पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रविवार को महाराष्ट्र में कोरोना की स्थिति की समीक्षा करने के लिए मंत्रिमंडल की बैठक बुलाई थी। इस बैठक में राज्य में लॉकडाउन लगाने की घोषणा की गई। इसमे सप्ताह के 5 दिन सख्त प्रतिबंध और शनिवार-रविवार को सख्त लॉकडाउन लगाने के निर्णय लिया गया। आज शाम 8 बजे से यह नियमावली लागू की जाएगी। राज्य सरकार द्वारा लिए गए निर्णय पर प्रतिक्रिया देते हुए विपक्ष नेता देवेंद्र फडणवीस ने सरकार के निर्णय में साथ दिया है। साथ ही सरकार पर निशाना भी साधा है।

देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि राज्य में कोरोना की परिस्थिति दिन प्रतिदिन गंभीर ही होती जा रही है। इस पृष्ठभूमि पर राज्य सरकार ने दो दिन का वीकेंड लॉकडाउन और अन्य दिन मिनी लॉकडाउन की घोषणा की है। ऐसे में देवेंद्र फ़डणवीस ने कहा है कि इस निर्णय में मेरा पूरा सपोर्ट है। मैं अपील करता हूँ कि राज्य सरकार द्वारा बनाए गए नियमों का जनता पालन करें। साथ ही राज्य के भाजपा कार्यकर्ता से भी अपील करता हूँ कि जहाँ जरुरत हो वहाँ वे सहयोग करें।

राज्य के अस्पतालो में बेड की कमी है। दवाइयों का भी अभाव हो गया है। इस पर भी सरकार ध्यान दे। लॉकडाउन में सर्वसामान्य लोगो की हालत बिगड़ने वाली है। इसलिए इन वर्गो के लिए सरकार कुछ प्रावधान करे। कोरोना को रोकने के लिए बड़े पैमाने पर वैक्सीनेशन की जरूरत है। इस पर राज्य सरकार को सोचने की जरूरत है। बीच के समय में सरकार निश्चिंत हो गई इसलिए फिर से यह नौबत आ गई।

You might also like

Comments are closed.