मैं तो इसका छोटा सा हिस्सा, इसमे शिवसेना नेताओं का हाथ, सचिन वाझे का NIA के सामने खुलासा, भाजपा का बड़ा दावा

मुंबई: उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के पास मिली स्कार्पियो में विस्फोटक मिलने के मामले में सहायक पुलिस निरीक्षक सचिन वाझे को एनआईए ने गिरफ्तार किया है। वही कारवाई के लिए लगातार आवाज़ उठाने वाली भाजपा ने अपने आधिकारिक ट्विटर के माध्यम से बहुत बड़ा दावा किया है। सचिन वाझे ने जांच के दौरान किस शिवसेना नेता का नाम लिया है, यह सवाल उठाया है। साथ ही भाजपा ने दावा किया है कि सचिन वाझे ने एनआईए से कहा है कि मैं तो इसका छोटा सा हिस्सा हूँ। इसमे कई शिवसेना नेताओ का हाथ है। भाजपा के इस दावे के साथ ही राज्य की राजनीति में बड़ी खलबली मच गई है।

सचिन वाझे को कोर्ट ने 25 मार्च तक एनआईए की कस्टडी में रखने का आदेश दिया है। ऐसे में विस्फोटक रखने के पीछे के मास्टरमाइंड को ढूंढने के लिए एनआईए ने कमर कस ली है। अंबानी के घर के पास कार लाकर रखने के पीछे का उद्देश्य क्या था। डर दिखा कर वो कया साबित करना चाहते हैं, इसकी जांच शुरू है। सिर्फ अपने दम पर वाझे इतनी हिम्मत नहीं कर सकते हैं, उनके पीछे जरूर किसी वरिष्ठ अधिकारी व नेता का हाथ होने का संदेह अधिकारियो को है। वो किसके संपर्क में हैं, इसकी जानकारी लेने की जानकारी सुत्रो से मिली है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने वाझे का शिवसेना से किसी भी प्रकार का संबंध न होने की बात स्पष्ट की है। वही दूसरी ओर एनआईए जांच से और भी चौंकानेवाली जानकारी सामने आएगी, इसपर सभी की नजर टिकी रहेगी।

अंबानी कए निवासस्थान के पास जिलेटिन की छड़ से भरा स्कार्पियो के पीछे सफेद रंग की इनोवा सीसीटीवी में दिख रही थी। यह गाड़ी क्राइम ब्रांच के वाझे कार्यरत क्राइम इंटेलिजेंस की है। एनआईए के अधिकारियो ने रविवार को यह गा‌ड़ी जब्त की है। वाझे पर विस्फोटक ले जाने, हत्या का जाल बिछाने आदि मामला दर्ज है। इसके साथ ही मनसुख हिरेन की हत्या के मामले की धारा जल्द ही लगाए जाने की जानकारी सुत्रो ने दी।

You might also like

Comments are closed.