इंडोनेशिया में भूकंप से भारी तबाही, रिक्टर स्केल पर तीव्रता 6.2 मापी गई  

-कम से कम 15 लोगों की मौत, 600 लोग घायल

 जकार्ता. ऑनलाइन टीम : भौगोलिक तौर पर इंडोनेशिया भूकंप और ज्वालामुखी विस्फोट के प्रति संवेदनशील है। गुरुवार आधी रात के बाद यहां के सुलावेसी द्वीप पर  तेज भूकंप से दहशत मच गई। रिक्टर पैमाने पर इस भूकंप की तीव्रता 6.2 मापी गई। भूकंप की तीव्रता इतनी अधिक थी कि इसका असर यहां से करीब 900 किलोमीटर दूर दक्षिण में स्थित द्वीप के सबसे बड़े शहर माकासर तक महसूस किया गया। हादसे में कम से कम 15 लोगों की मौत हो गई और 600 अन्य लोग घायल हुए हैं।  हताहतों की संख्या बढ़ने की आशंका जताई है। भूकंप के बाद हुए भूस्खलन की वजह से हजारों लोगों को रात के अंधेरे में अपना घर छोड़ना पड़ा। इस भूकंप का केन्द्र पश्चिम सुलावेसी प्रांत के मामुजु जिले में 18 किलोमीटर की गहराई में था।

अमेरिकी जियोलॉजिकल सर्वे ने बताया कि  वहां 300 घर बर्बाद हो गए हैं और 15 हजार लोगों को आश्रयों में शरण लेनी पड़ी है। राष्ट्रीय आपदा शमन एजेंसी की ओर से जारी की गई एक वीडियो में एक बच्ची एक घर के मलबे में फंसी और मदद की गुहार लगाती नजर आ रही है। बच्ची यह भी कहती दिखी कि उसकी मां जिंदा है, लेकिन बाहर नहीं निकल पा रही। बचावकर्मियों ने उससे कहा कि वह उसकी मदद करने की पूरी कोशिश कर रहे हैं।

टीवी चैनलों की खबर के अनुसार भूकम्प से एक अस्पताल का हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया और मरीजों को बाहर अस्थायी आपात तंबुओं में पहुंचाया गया। बता दें कि  इंडोनेशिया की भौगोलिक स्थिति के कारण भूकंप का खतरा हरदम बना रहता रहता है। दिसंबर 2004 में पश्चिमी इंडोनेशिया के सुमात्रा में 9.3 तीव्रता का भूकंप आया था। इसके कारण आई सूनामी के कारण हिंद महासागर क्षेत्र के कई देशों में 2,20,000 लोग मारे गए थे।

You might also like

Comments are closed.