Loading...

हरियाणा के मंत्री ने कहा- मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जिंदाबाद, लव जिहाद पर हम भी आपके साथ 

Loading...

चंडीगढ़. ऑनलाइन टीम : उत्तर प्रदेश की योगी कैबिनेट ने लव जिहाद के गुनहगारों पर एक्शन के लिए अंतिम मुहर लगा दी है। राजनीतिक हलकों में इसे एक फैसले के रूप में देखा जा रहा है। देश के अलग-अलग भागों से इस पर मिली-जुली प्रतिक्रियाएं आ रहीं हैं। हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने  ट्वीट करते हुए लिखा कि ‘ उत्तर प्रदेश में लव जिहाद के गुनहगारों पर एक्शन के लिए योगी कैबिनेट ने इस कानून पर अंतिम मुहर लगा दी है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जिंदाबाद। हरियाणा भी लव जिहाद पर शीघ्र कानून बनाएगा।’

Loading...

बता दें कि हरियाणा सरकार भी यूपी की तर्ज पर जल्द जबरन धर्म परिवर्तन के खिलाफ एक सख्त कानून बनाने की तैयारी में जुटी है, जिसका जिक्र गृह मंत्री अनिल विज पहले भी कई बार कर चुके हैं।

Loading...

योगी सरकार ने ‘विधि विरुद्ध धर्म संपरिवर्तन प्रतिषेध अध्यादेश 2020’ के मसौदे को मंजूरी दे दी है। राज्यपाल की मंजूरी मिलते ही यह कानून प्रभावी हो जाएगा। इसके बाद दबाव डालकर या झूठ बोलकर अथवा किसी अन्य कपट पूर्ण ढंग से अगर धर्म परिवर्तन कराया गया तो यह एक संज्ञेय अपराध माना जाएगा। यह गैर-जमानती होगा और प्रथम श्रेणी मजिस्ट्रेट के न्यायालय में मुकदमा चलेगा। दोष सिद्ध हुआ तो दोषी को कम से कम एक वर्ष और अधिकतम पांच वर्ष की सजा भुगतनी होगी।

साथ ही कम से कम 15,000 रुपए का जुर्माना भी भरना होगा। अगर धर्म परिवर्तन का मामला अवयस्क महिला, अनूसूचित जाति या अनुसूचित जनजाति की महिला के संबंध में हुआ तो दोषी को तीन वर्ष से 10 वर्ष तक कारावास की सजा और न्यूनतम 25,000 रुपये जुर्माना अदा करना पड़ेगा।

Loading...

Comments are closed.