IMA के पूर्व निदेशक डॉ. केके अग्रवाल का कोरोना से निधन

नई दिल्ली ; ऑनलाइन टीम – इंडियन मेडिकल असोसिएशन (IMA) के पूर्व निदेशक और पद्मश्री डॉ. के के अग्रवाल का बीती रात निधन हो गया। उनका निधन सोमवार रात 11.30 बजे हो गया। डॉ. केके अग्रवाल को कोरोना संक्रमण के बाद एम्स के आईसीयू में भर्ती कराया गया था। वह पिछले कई दिनों से कोरोन संक्रमण से जूझ रहे थे। संक्रमण गंभीर होने के बाद उन्हें दिल्ली एम्स के आईसीयू में भर्ती कराया गया था।

डॉ. के के अग्रवाल ने खुद ही कुछ दिनों पहले अपने ट्विटर के माध्यम से जानकारी दी थी कि वह कोरोना संक्रमित हो गए हैं। उनका निधन चिकित्सा जगत के लिए बहुत बड़ी क्षति है। 62 साल के डॉक्टर अग्रवाल को पिछले सप्ताह से उन्हें वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया था। डॉक्टर केके अग्रवाल बेहतरीन कार्डियोलॉजिस्ट्स में शुमार थे, इसके अलावा हर्ट केयर फाउंडेशन ऑफ इंडिया के प्रमुख थे। साल 2005 में डॉ बीसी रॉय पुरस्कार से उन्हें सम्मानित किया गया, जबकि साल 2010 में उन्हें पद्म श्री से नवाजा गया।

केके अग्रवाल ने अपने ट्विटर अकाउंट पर बीते 28 अप्रैल को जानकारी दी थी कि वो कोरोना संक्रमित हो गए हैं। उन्होंने कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज ली हुई है। हालांकि कोरोना संक्रमित होने के बावजूद वह लोगों को एजुकेट करने के काम में लगे हए थे। महामारी के दौरान उन्होंने लोगों को जागरुक करने की हरसंभव कोशिश की। कई वीडियोज और अपने संदेश के जरिए उन्होंने 100 मिलियन लोगों तक पहुंच बनाई. उन्होंने अनगिनत लोगों की जान बचाई। बयान में कहा गया है कि वो चाहते थे कि उनके जीवन को लेकर जश्न मनाया जाए, शोक न किया जाए।

केके अग्रवाल ने 1979 में नागपुर यूनिवर्सिटी से एमबीबीएस की पढ़ाई पूरी की। इसके बाद उन्होंने इसी विश्वविद्यालय से 1983 में एमएस की डिग्री हासिल की। उन्होंने पुरातन वैदिक दवाओं और आधुनिक दवाओं के मेलजोल को लेकर कई किताबें लिखी हैं। मेडिकल के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिए अग्रवाल को डॉ. बीसी रॉय पुरस्कार से भी सम्मानित किया जा चुका है।

You might also like

Comments are closed.