अंततः जारी हुआ देहूरोड रेडजोन की सीमा में से.22 का नक्शा

पिंपरी। देहूरोड रेडजोन की सीमा में सेक्टर 22 का नक्शा अंततः शुक्रवार को प्रकाशित किया गया। पुणे जिलाधिकारी के आदेशानुसार पिंपरी चिंचवड़ मनपा के नगररचना विभाग ने यह नक्शा नोटिस बोर्ड पर लगाया है। वरिष्ठ नगरसेविका और स्थायी समिति की भूतपूर्व अध्यक्षा सीमा सावले की जनहित याचिका की सुनवाई में मुंबई उच्च न्यायालय ने 2 अगस्त 2019 को सेक्टर 22 के क्षेत्र के बारे में रेडजोन के क्षेत्र का मापन करने का आदेश दिया था। वर्क ऑफ डिफेन्स एक्ट 1903 नुसार देहूरोड गोलाबारूद कारखाने की बाउंड्री वाल से 2000 यार्ड के भीतर आनेवाले क्षेत्र का सर्वेक्षण कर प्रतिज्ञापत्र पेश करने के आदेश भी दिये थे। इसके अनुसार क्षेत्र का मापन पूरा कर नक्शा जारी किया गया है।
रक्षा विभाग की सीमा दीवार से 2000 यार्ड कहाँ तक आता है यह इस नक्शे में दर्शाया गया है। इस मसले पर 4 नवंबर को पुणे जिलाधिकारी कार्यालय में एक बैठक संपन्न हुई जिसमें जिलाधिकारी डॉ. राजेश देशमुख, निवासी जिलाधिकारी जयश्री कटारे, नगररचना उपनिदेशक रा. र. पवार, प्राधिकरण के मुख्य कार्यकारी अधिकारी बन्सी गवली, पिंपरी चिंचवड मनपा के सहशहर अभियंता अशोक भालकर, देहूरोड डिपो के कैप्टन ध्रुव धंखा, एमआयडीसी के कार्यकारी अभियंता निलेश मोढवे, सेंट्र्ल ऑर्डनन्स डिपो देहूरोड के कमलेश, अप्पर तहसिलदार गीता गायकवाड, उपअधिक्षक हवेली शिवप्रसाद गौरकर, पिंपरी चिंचवड नगर भूमापन अधिकारी उमेश झेंडे, कनिष्ठ अभियंता प्रशांत गायकवाड आदि उपस्थित थे।
इस बैठक में इस पूरे मामले की जानकारी देते हुए, जिलाधिकारी ने स्पष्ट किया कि याचिकाकर्ता सीमा सावले द्वारा उच्च न्यायालय में जनहित याचिका दायर की गई है, जिसके संबंध में जिला भू-अभिलेख विभाग ने भूमापन किया है। भूमि अधिकारी ने कहा कि 30 दिसंबर, 2019 को भूमापन पूरा किया गया। इसके बाद जिलाधिकारी देशमुख ने स्वयं संबंधित एजेंसियों को निर्देश दिया कि वे अपने कार्यालय के नोटिस बोर्ड पर और साथ ही रेड जोन प्रभावित क्षेत्र के सार्वजनिक स्थानों पर रेडजोन का नक्शा प्रकाशित करें और उसकी एक रिपोर्ट जिलाधिकारी कार्यालय को प्रस्तुत करें। तदनुसार, पिंपरी चिंचवड़ मनपा ने आज इस नक्शे को प्रकाशित किया है।
You might also like

Comments are closed.