फिल्म निर्देशिका सुमित्रा भावे का 78 साल की उम्र में पुणे में निधन

पुणे : सुवर्ण कमल विजेता निर्माता, निर्देशक सुमित्रा भावे का निधन हो गया। देवराई, दोघी, दहावी फ, कासव ऐसे अनेक राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त फिल्म की निर्देशक, निर्माता और पटकथा लेखिका सुमित्रा भावे ने 78 वर्ष की अवस्था में अपनी अंतिम सांस ली। भावे पिछले कई दिनो से बीमार थी।

उन्होने निर्देशक सुनील सुकथनकर के साथ कई मराठी फिल्मों का निर्माण किया। उनके द्वारा निर्देशित फिल्म दहावी फ, वस्तु पुरुष, देवराई, बाधा, नितल, एक कप च्या, सन्हिता, घो मला असला हवा, कासव, ने बहुत धूम मचाई। उनके द्वारा निर्देशित अंतिम फिल्म अभी तक प्रदर्शित नहीं हुई है। उनके चाहनेवाले बहुत हैं।

सुमित्रा भावे का जन्म 12 जनवरी 1943 में पुणे में हुआ था। फर्ग्युसन कॉलेज से डिग्री लेने के बाद उन्होंने मुंबई के टाटा समाज विज्ञान संस्था से ग्रामीण विकास में डिप्लोमा लिया। शिक्षा के बाद उन्होंने कई स्वयंसेवी संस्था में बिना किसी वेतन के कार्य किया। फुल टाइम समाजशास्त्रज्ञ के रूप में कार्य करने का उन्होंने तय किया। फिल्म की ताकत को पहचान कर उनका झुकाव इस क्षेत्र के प्रति हो गया। शुरुआत में उन्होंने एक शॉर्ट फिल्म बनाई।

उसे मिले रिस्पॉन्स को देखते हुए वे फिल्म लाइन में आ गई। विजय तेंदुलकर से लेकर सचिन तेंदुलकर तक कई नवोदित कलाकारो ने उनके फिल्म में काम किया है। उम्र के 75 वर्ष का पड़ाव पार करने के बाद भी वे फिल्मी दुनिया में कार्यरत थी।

You might also like

Comments are closed.