क्वारंटाइन संबन्धी कामकाज के लिए फील्ड सर्वलेन्स टीम गठित

पिंपरी। महामारी कोरोना के संक्रमण के खतरे को पहचानते हुए कोरोना ग्रस्तों को क्वारंटाइन संबन्धित सरकारी गाइडलाइंस के अनुसार कामकाज के लिए पिंपरी चिंचवड़ मनपा स्तर पर सर्वलेन्स टीमें गठित की गई है। मनपा आयुक्त राजेश पाटील ने इसके आदेश जारी किए हैं। इस टीम में पीएमपीएमएल के कर्मचारी और मनपा के 496 शिक्षकों का समावेश कर उनकी अस्पताल वार नियुक्ति की गई है। संबंधित अस्पताल प्रमुख, चिकित्सा अधिकारियों पर इन कर्मचारियों को अस्पताल स्तर के कामकाज की पूरी जानकारी और प्रशिक्षण देकर कामकाज सौंपने के आदेश दिए गए हैं।
कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग और अन्य काम के लिए टीम में एक शिक्षक या क्लर्क, एक पीएमपीएमएल कर्मचारी और एक पैरामेडिकल स्टाफ शामिल होंगे। इन टीमों को मनपा के सभी अस्पतालों और क्षेत्रीय कार्यालयों के लिए उपलब्ध कराया जाएगा। भर्ती किए गए कर्मचारियों में निगम के विभिन्न स्कूलों के सहायक शिक्षक, उप-शिक्षक और संगीत शिक्षक सहित पीएमपीएमएल कर्मचारी शामिल हैं। अस्पताल-वार चेक-अप केंद्र में नागरिकों के कोरोना परीक्षण के बाद, 22 से 44 वर्ष की आयु के बीच सकारात्मक लक्षण और स्पर्शोन्मुख आयु वर्ग के रोगियों को सिफारिश पर मनपा के कोविड केयर सेंटर और इंस्टीट्यूशन
क्वारंटाइन सेंटर में भर्ती कराया जाएगा। अस्पताल प्रमुख के। संस्थागत क्वारंटाइन से संबंधित सरकारी दिशानिर्देशों के अनुसार अलग-अलग कमरे, शौचालय, बाथरूम आदि को सुनिश्चित करके और उनके हाथों पर होम आइसोलेशन की मुहर लगाकर घर में रहने की अनुमति दी जाएगी। शेष सकारात्मक रोगियों को कोविड केयर सेंटर और संस्थागत पृथक्करण केंद्र में भर्ती कराया जाएगा।
सभी क्षेत्रीय कार्यालयों को निर्देश दिया गया है कि वे अपने कार्य क्षेत्र में सकारात्मक रोगियों के लिए एक कंटेनमेन्ट ज़ोन स्थापित करें, ऐसे ज़ोन में स्टिकर चिपकाएं, सोसाइटियों के बाहर होर्डिंग लगाएं, 14 दिनों के बाद कन्टेनमेट ज़ोन को मुक्त करें, सोसायटियों के सचिव और अध्यक्षों को चेतावनी दें कि सोसायटी के सकारात्मक रोगियों को बाहर नहीं आने दें। क्षेत्रीय कार्यालयों को निर्देशित किया गया है कि वे अपने क्षेत्र में रिक्शा के साथ-साथ स्वास्थ्य विभाग के कचरा ट्रकों द्वारा जागरूकता अभियान चलाएं। कोई भी सकारात्मक रोगी बाहर घूमता हुआ पाया जाता है तो पुलिस स्टेशन में भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के तहत मामला दर्ज किया जाएगा, इसकी जानकारी दें। इस बीच, सरकार के नए जारी किए गए दिशानिर्देशों के अनुसार, मनपा आयुक्त राजेश पाटिल ने जोनल कोऑर्डिनेटिंग ऑफिसर्स को निर्देश दिया है कि वे कोरोना प्रभावित मरीज के साथ-साथ सभी फील्ड ऑफिस और डिविजनल अस्पतालों के सीधे संपर्क में आए व्यक्ति के साथ अलगाव पर चर्चा करें।
You might also like

Comments are closed.