उद्यमियों ने उप मुख्यमंत्री से की मांग, कहा – ‘लॉकडाउन से औद्योगिक क्षेत्र को रखें बाहर ’

पुणे : कोरोना की चेन को तोड़ने के लिए ठाकरे सरकार ने राज्य भर में सख्त लॉकडाउन करने का फैसला किया है। 15 अप्रैल के बाद लॉकडाउन की संभावना है। ऐसे में उद्यमियों ने आशंका व्यक्त की है कि लॉकडाउन उद्योगों को बहुत नुकसान हो सकता है। इसलिए, औद्योगिक क्षेत्र को लॉकडाउन से बाहर रखें, यह मांग बारामती इंडस्ट्रियल मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन ने उपमुख्यमंत्री अजित पवार से की है।

इस बारे में एसोसिएशन के अध्यक्ष धनंजय जामदार ने उप मुख्यमंत्री अजित पवार को पत्र लिखा है, जिसमे कहा गया है कि राज्य में औद्योगिक क्षेत्र बहुत ही प्रतिकूल स्थिति से गुजर रहा है। पिछले साल के लॉकडाउन में उद्यमियों का बहुत नुकसान हुआ है। यदि इसे फिर से बंद कर दिया जाता है, तो उद्यमियों की वित्तीय रीढ़ टूट जाएगी। पिछले लॉकडाउन के दौरान सभी बाहरी मजदूर गांव चले गए थे और अब फिर से लॉकडाउन के डर से मजदूर गांव जा रहे हैं, इससे उद्यमी को नुकसान हो रहा है। कई लोगों ने बड़े ऋण लेकर व्यवसाय स्थापित किए हैं।

ऐसे उद्यमियों के लिए ऋण की किश्तों का भुगतान करना मुश्किल होनेवाला है। एसोसिएशन के जमादार ने आशंका व्यक्त की है कि अगर एक बार फिर से लॉकडाउन होता है, तो कई कंपनियों को ताला लगाना पड़ेगा और श्रमिकों पर भी बेरोजगारी का बादल मंडराएगा। इसलिए औद्योगिक क्षेत्र को लॉकडाउन में न रखने की मांग उद्यमियों ने की है।

You might also like

Comments are closed.