Loading...

इंद्रायणी थड़ी मेले में मनोरंजन से प्रबोधन पर जोर

Loading...
पिंपरी : समाचार ऑनलाइन – महिला सक्षमीकरण आंदोलन के सार्वजनिक उपक्रम में ‘माईल स्टोन’ साबित ‘इंद्रायणी थडी’ मेले में महिला बचत गुटों के उत्पादनों को बाजार उपलब्ध कराने के साथ ही मनोरंजन से प्रबोधन पर जोर देनेवाले एक से बढ़कर एक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया है।पिंपरी चिंचवड भाजपा के शहराध्यक्ष तथा विधायक महेश लांडगे की संकल्पना और शिवांजली सखी मंच की अगुवाई में भोसरी स्थित स्व अंकुशराव लांडगे नाट्यगृह के बगल में गांव मेला मैदान 30 जनवरी से ‘इंद्रायणी थडी’ मेला शुरू होने जा रहा है। 2 फरवरी तक चलने वाले चार दिवसीय यह मेला रोजाना सुबह 10 से रात दस बजे तक सभी के लिए खुला रहेगा।
Loading...
शिवांजली सखी मंच की प्रमुख पूजा महेश लांडगे ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि, मनोरंजन, खेल, ऐतिहासिक पौराणिक झांकियां, स्वादिष्ट खाद्यपदार्थ के स्टॉल, महिला बचत गुटों के उत्पादन, महाराष्ट्र की संस्कृति व परंपरा के बेजोड़ संगम वाले इंद्रायणी थडी मेले का आयोजन का यह दूसरा वर्ष है। इस साल मेले की थीम ‘महिला सुरक्षा और सन्मान’ पर आधारित है। यहां महिला बचत गुटों के उत्पादनों को बाजार उपलब्ध कराने के अलावा मनोरंजन से प्रबोधन करनेवाले कई कार्यक्रमों का आयोजन किया गया है। 30 जनवरी को मेले के उदघाटन वाले दिन ‘चला हवा येवू द्या’, नृत्य व संगीत कार्यक्रम, ज्ञानेश्वर मेश्राम, भजन स्पर्धा, पारंपरिक नृत्य स्पर्धा के प्रतिभागियों के चयन आदि कार्यक्रम होंगे।
Loading...
31 जनवरी को भजन स्पर्धा, ‘नव्याने जत्रा भरते’ : सुधीर कालजे, पारंपरिक नृत्य स्पर्धा का अंतिम राउंड, 1 फरवरी को अभंग बैंड, पारंपरिक फैशन शो, कीर्तन : निवृत्ती महाराज देशमुख, पाश्चात्य नृत्य स्पर्धा चयन और आखिरी राउंड, आत्मरक्षा उपक्रम होंगे। 2 फरवरी को पारंपरिक फैशन शो, भजन स्पर्धा, ‘मिस इंद्रायणी’ फैशन शो, डान्स स्पर्धा, मर्दानी खेल, आदिवासी नृत्य और मेले के समापन का कार्यक्रम होगा। इसके अलावा मैजिक शो, वन मिनिट शो, मंगलागौर उखाणा कार्यक्रम, मैजिक शो-धनगर, झुंबा डान्स, कोली डान्स, लावणी कार्यक्रम, मर्दानी खेल, आदिवासी नृत्य, ऐतिहासिक शस्त्र प्रदर्शन, गड-किलों के छायाचित्र प्रदर्शन, बालजत्रा जैसे कई आकर्षक कार्यक्रमों की रेलचेल रहेगी। इस मेले में 800 स्टॉल बनाए गए हैं, जिन्हें पाने के लिए 2078 आवेदन मिले थे। इसमें छंटनी के बाद 800 स्टॉल निश्चित किये गए हैं। इसमें विविध खाद्य पदार्थों के 400, प्रदर्शन के 80, मेडिकल जानकारी व प्रथमोपचार के 10 और ज्वेलरी, कपड़ों, फूट वेयर आदि के 300 स्टॉल शामिल हैं।
Loading...

Comments are closed.