मेघालय में मनाया गया ईद

शिलांग (आईएएनएस) : समाचार ऑनलाईन – ईद-उल-अजहा, जिसे बकरीद के नाम से भी जाना जाता है, प्रमुख रूप से ईसाई राज्य मेघालय में भी सोमवार को धूमधाम और उत्साह के साथ मनाया गया। शिलांग, दावकी, नोंगपोह, लाड रिंबाई और बिर्नीहाट और गारो हिल्स स्थित ईदगाहों और मस्जिदों में हजारों पुरुषों और बच्चों ने नमाज अदा की।

देश की पहली कांच मस्जिद, शिलांग की मदीना मस्जिद में ईदगाह पर सबसे अधिक भीड़ थी, जहां 10,000 से अधिक लोग एक साथ नमाज अदा करने के लिए एकत्रित हुए थे। शिलांग मुस्लिम यूनियन के महासचिव अल्हाज सईदुल्लाह नोंगराम ने कहा, “हमने अपने देश और दुनिया में शांति और सद्भाव के लिए प्रार्थना की, ताकि धर्म पर विश्वास करने वाले लोग शांति से रह सकें।”

नमाज के बाद मुसलमानों ने पैगंबर इब्राहिम द्वारा किए गए बलिदान को याद करने के लिए बकरियों और अन्य ‘हलाल’ जानवरों की बलि दी।

बलिदान किए गए जानवरों का मांस पड़ोसियों, रिश्तेदारों और गरीबों में वितरित किया जाता है।

राज्यपाल तथागत रॉय और मुख्यमंत्री कॉनराड संगमा ने इस अवसर पर लोगों को शुभकामनाएं दी। रॉय ने कहा, “यह त्योहार राज्य में शांति, समृद्धि और सद्भाव को बढ़ावा देगा।” वहीं संगमा ने कहा, “यह पावन पर्व हम सभी के अंदर प्रेम, करुणा और नि:स्वार्थता की भावना भरे और राज्य के विकास और समृद्धि के लिए नागरिकों के बीच प्रेम, भाईचारे और प्रेम के बंधन को और मजबूत करें।” मेघालय के लगभग 30 लाख लोगों में मुस्लिमों की संख्या 4.40 प्रतिशत है।

Comments are closed.