Loading...

संवेदनशीलता व मानवता का जतन करने पर कम होगा हादसों में मौतों का प्रमाण

सांसद सुप्रिया सुले की राय; सड़क सुरक्षा सप्ताह का समापन

Loading...
पुणे : समाचार ऑनलाइन – आज का युग गतिमान है मगर यातायात के नियमों का पालन कर नियंत्रित रफ्तार और सुरक्षित तरीके से वाहन चलाना चाहिए। समय पर इलाज न मिलने से हादसों में मौतों का प्रमाण बढ़ रहा है। समाज ने संवेदनशीलता और मानवता का जतन किया तो यह प्रमाण कम हो सकेगा। यह राय जताते हुए राष्ट्रवादी कांग्रेस की सांसद सुप्रिया सुले ने सड़क पर हादसाग्रस्त लोगों को तत्काल इलाज की सुविधा उपलब्ध कराना जरूरी बताया। जिला सड़क सुरक्षा समिति की अध्यक्षा रही सांसद सुले की प्रमुख उपस्थिति में जिलाधिकारी कार्यालय, आरटीओ और पुलिस विभाग के संयुक्त तत्वावधान में 31वें राज्यस्तरीय सड़क सुरक्षा सप्ताह का समापन हुुुआ।
Loading...
Loading...
अपने व अपने परिवार की सुरक्षितता लिए यातायात नियमों का पालन करें और हादसों का प्रमाण जीरो फीसदी बनाने के साथ ही सांसद सुले ने अविरत अपने कर्तव्यों का पालन करने में जुटे पुलिस के साथ आदर व नम्रता के साथ पेश आने की अपील सांसद सुले ने किया। इस मौके पर जिलाधिकारी नवल किशोर राम, पुणे पुलिस आयुक्त डॉ. के. व्यंकटेशम, ट्रैफिक विभाग के अपर पुलिस आयुक्त संजय शिंदे, जिला पुलिस अधीक्षक संदिप पाटील, प्रादेशिक परिवहन अधिकारी अजित शिंदे, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी उदय जाधव आदि उपस्थित थे। कार्यक्रम के हाथों जिलाधिकारी कार्यालय में दोपहिया रैली को जिलाधिकारी ने हरी झंडी दिखाई। इसके अलावा एसटी महामंडल के उत्कृष्ट महिला वाहन चालक व सड़क सुरक्षा अभियान में उल्लेखनीय काम करनेवाले विद्यार्थियों का सम्मान किया गया।
Loading...

Comments are closed.