कोरोना संक्रमण रोकने के लिए कठोर कदम, ठाकरे सरकार का बड़ा निर्णय

मुंबई:  राज्य में एक बार फिर से कोरोना ने पांव पसारना शुरू कर दिया है। कोरोना की वर्तमान स्थिति पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में विस्तृत चर्चा की गई। हालांकि इस समय लॉकडाउन पर कोई चर्चा नहीं हुई, लेकिन कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए हर तरफ से कठोर कदम उठाने पर सहमति हुई।

राज्य में कोरोना के मरीज तेजी से बढ़ रहे हैं। पिछले 24 घंटों में  राज्य में लगभग 9,000 नए मरीज आए हैं। इसकी बढ़ती चिंताओं के बीच आज राज्य मंत्रिमंडल की एक महत्वपूर्ण बैठक हुई। बैठक में कोविड की स्थिति पर व्यापक चर्चा हुई। कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए कड़े कदम उठाने का फैसला इस बैठक में लिया गया। बैठक में मास्क पहनना,  हाथ धोना,  सुरक्षित दूरी बनाए रखना जैसे त्रीसुत्री विषय, मैं जिम्मेदार मुहिम को लागू करना और सभी के टीकाकरण की बात प्रस्तुत की गई। मैं जिम्मेदार अभियान और टीकाकरण को प्राथमिकता देने का निश्चय किया गया।

इसी बीच  राज्य में एक बार फिर से कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए लॉकडाउन के संकट मोल लेना पड़ेगा। विदर्भ के कुछ जिलों में लॉकडाउन जैसी स्थिती आ गई है। इस पृष्ठभूमि पर रविवार को मुख्यमंत्री ठाकरे ने फेसबुक लाइव के माध्यम से राज्य के लोगों के साथ संवाद साधा था। यदि नागरिक नियमों का पालन नहीं करते हैं,  तो उन्हें फिर से लॉकडाउन का सामना करना पड़ेगा,  ऐसा मुख्यमंत्री ने स्पष्ट शब्दों में चेतावनी दी थी। कोरोना के नियमों को सख्ती से लागू करें। मुख्यमंत्री पहले ही प्रशासन को निर्देश दे चुके हैं कि यदि आवश्यक हो तो कठोर निर्णय ले सकते हैं। बदलते परिस्थिति में सरकारी स्तर पर तेजी से कदम उठाया जा रहा है।

मरीज़ो की बढ़ती संख्या चिंता का विषय

– आज राज्य में 80 संक्रमित मरीज़ों की मौतें हुई। वर्तमान में राज्य में मृत्यु दर 2.45% है।

– आज राज्य में 8  हजार 807  नए मरीज मिले हैं और २ हजार 772 मरीज ठीक होकर घर लौटे हैं।

– अब तक कुल 20 लाख 8 हजार 623 मरीज कोरोना को हरा चुके हैं।

– राज्य में वर्तमान में रिकवरी रेट 94.70 प्रतिशत है।

– अब तक जांच किए गए 1 करोड़ 59 लाख 41 हजार 773 नमूनों में से 21 लाख 21 हजार 119 (13.31 प्रतिशत) नमूने पॉजिटिव आए हैं।

वर्तमान में 2 लाख 95 हजार 578 व्यक्ति होम क्वारंटाइन में हैं और 2 हजार 446 व्यक्ति इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन में हैं।

– राज्य में सक्रिय मरीज़ो की संख्या 59 हजार 358 है। सबसे ज्यादा 10 हजार 427 सक्रिय मरीज पुणे जिले में हैं।

 

You might also like

Comments are closed.