शास्तिकर माफी के फैसले तक जब्ती कार्रवाई न करें

पूर्व विपक्षी नेता दत्ता साने की मांग

पिंपरी। सँवाददाता – अवैध निर्माणकार्यों से शास्तिकर (जुर्माना के तौर पर वसूले जाने साले तीन गुना संपत्ति कर) की वसूली के लिए संपत्ति जब्त करने की चेतावनी पिंपरी चिंचवड़ मनपा प्रशासन ने दी है। इस पर कड़ा ऐतराज जताते हुए भूतपूर्व विपक्षी नेता दत्ता साने ने शास्तिकर माफी का फ़ैसला होने तक संपत्ति जब्त करने की कार्रवाई न करने की पुरजोर मांग की है।
इस बारे में साने ने मनपा आयुक्त श्रावण हार्डिकर को एक ज्ञापन सौंपा है, जिसमें कहा गया है कि, मनपा के करसंकलन विभाग द्वारा बकाया संपत्ति कर और शास्तिकर वसूलने के लिए नोटिसें जारी की है। इन नोटिसों में बकाया वसूली के लिए संपत्ति जब्त कर उसे ध्वस्त करने की चेतावनी दी है। वस्तुत: चंद दिनों पहले 500 स्क्वेअर फीट तक के अवैध निर्माणकार्यों का शास्तिकर माफ करने का प्रस्ताव सरकार के पास लंबित है।
इसके अलावा मनपा की सर्वसाधारण सभा में पूर्ण शास्तिकर माफी का प्रस्ताव भी पारित किया गया है। इसका फैसला भी होना बाकी है। शास्तिकर माफी का फैसला लंबित रहने के बीच ही मनपा प्रशासन ने बकाया वसूली के लिए संपत्ति जब्त करने और अवैध निर्माण ध्वस्त करने की कार्रवाई की चेतावनी दी है।  यह सरासर गलत है, इसका अंतिम फैसला होने तक जब्ती या अन्य कार्रवाई नहीं की जानी चाहिए। इसकी मांग दत्ता साने ने मनपा आयुक्त से की है। साथ ही लोगों से भी अपील की है कि वे शास्तिकर का भुगतान न करें।
You might also like

Comments are closed.