कोरोना से ठीक होने के बाद ‘इन’ लक्षणों को न करें अनदेखा, वरना हो सकता है खतरनाक

नई दिल्ली : ऑनलाइन टीम – कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों के बावजूद भारत में लोग तेजी से ठीक हो रहे हैं। ज्यादातर लोगों को COVID-19 के हल्के लक्षण ही सामने आ रहे हैं। लेकिन, स्टडीज में सामने आ रहा है कि कोरोना से रिकवर होने के बाद भी लोगों को कई ऐसी बीमारियों हो रही हैं जो आपको परेशान कर सकती हैं। SARS-COV-2 वायरस कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट आने के बाद भी लोगों के शरीर पर हानिकारक प्रभाव छोड़ रहा है। एक्सपर्ट्स की मानें तो जिन लोगों को COVID-19 के हल्के लक्षण भी हुए हैं। उन्हें लंबे समय में कई तरह की बीमारियां हो सकती हैं।

दरअसल नेगेटिव होने के बाद भी कई दिनों तक ठीक नहीं होते है तो मरीज को पोस्ट कोविड रिकवरी की अत्यंत आवश्यकता है। पोस्ट कोविड रिकवरी प्रोग्राम में मरीज के लक्षणों का सही निदान एवं उपचार, फिजियोथेरेपी व पोषण संबंधित सलाह के माध्यम से नियंत्रित कर मरीज को जल्द से जल्द रिकवर करने की कोशिश की जाती है।

कोरोना के रिकवर होने के बाद लोगों को लंग्स, हार्ट के साथ-साथ किडनी पर बुरा असर पड़ रहा है। जिसके कारण कार्डियक अरेस्ट या हार्ट अटैक की समस्या हो रही है। कई लोगों की तो किडनी तक डैमेज हो रही हैं।

एक रिपोर्ट केअनुसार, कोरोना से रिकवर हो चुके मरीजों को एक सप्ताह या एक महीने बाद भी इसके लक्षण महसूस हो सकते हैं। जिसमें लगातार खांसी आना, कमजोरी, थकान, सिरदर्द, ब्रेन फ्राग, मांसपेशिय़ों में दर्द आदि शामिल है। इसके अलावा कई  लोगों के मेटाबॉलिज्म पर भी बुरा असर डाल रहा है।

You might also like

Comments are closed.