सांगली महापालिका में बीजेपी को पछाड़, NCP के दिग्विजय सुर्यवंशी बने मेयर

सांगली : ऑनलाइन टीम – राष्ट्रवादी के प्रदेशाध्यक्ष जयंत पाटील ने भाजपा को कड़ी टक्कर दी है। सांगली मिरज कुपवाड महापालिका में एनसीपी द्वारा सत्ता परिवर्तन करने में सफलता पायी। सांगली मिरज कुपवाड महापालिका में कांग्रेस-राष्ट्रवादी ने झंडा फहराया। साथ ही राष्ट्रवादी के दिग्विजय सुर्यवंशी मेयर बने। इससे भाजपा प्रदेशाध्यक्ष चंद्रकांत पाटील को बड़ा झटका लगा है।

राकांपा प्रत्याशी दिग्विजय सूर्यवंशी ने भाजपा प्रत्याशी धीरज सूर्यवंशी को 3 मतों से हराया। कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन भाजपा को छह मतों से हराने में सफल रहा। राकांपा के दिग्विजय सूर्यवंशी को 39 मत मिले, जबकि भाजपा के धीरज सूर्यवंशी को 36 मत मिले। सांगली महापौर पद के लिए मुख्य लड़ाई राकांपा के दिग्विजय सूर्यवंशी और भाजपा के धीरज सूर्यवंशी के बीच थी।

सांगली, मिराज और कुपवाड़ नगर निगम में पार्टी की ताकत (कुल सीटें – 78)
भाजप – 41
स्वतंत्र – 2
काँग्रेस – 20
राष्ट्रवादी – 15

महापौर-उपमहापौर चुनाव के लिए सत्ताधारी भाजपा में फुट की बात पहले ही स्पष्ट हो गया था। महापौर, उपमहापौर चुनाव के लिए भाजपा में सुगबुगाट शुरू था। पिछले बुधवार शाम को महापौर पद के लिए धीरज सूर्यवंशी और उपमहापौर पद के लिए गजानन मगदूम का नाम फाइनल किया गया था। भाजपा द्वारा नाम फाइनल होने के बाद राष्ट्रवादी के नेता ‘ॲक्शन मोड’ में आये। एनसीपी ने भाजपा के नाराज नगरसेवकों से संपर्क किया। कांग्रेस और एनसीपी को सत्ता परिवर्तन के लिए केवल पांच नगरसेवक की जरुरत थी।

सांगली महापौर गीता सुतार का कार्यकाल 21 फरवरी को समाप्त हो रहा था। सांगली महापौर पद के लिए भाजपा नेताओं की इच्छा बढ़ गयी थी। सत्ताधारी भाजपा की ओर से महापौर पद के लिए स्वाती शिंदे, युवराज बावडेकर, धीरज सूर्यवंशी, गणेश माळी, निरंजन आवटी के नाम पर चर्चा शुरू था। मेयर पद के लिए ज्यादा लोग इच्छुक देख भाजपा प्रदेशाध्यक्ष चंद्रकांत पाटील ने खुद सांगली में बैठक कर फैसला लिया था। जिसके बाद ही धीरज सूर्यवंशी के नाम पर मुहर लगाई गयी।

You might also like

Comments are closed.