Devendra Fadnavis | 2024 में केंद्र में मोदी सरकार आएगी, विरोधियों में आपस में मैच जारी : देवेंद्र फडणवीस

मुंबई : Devendra Fadnavis | पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) दो दिवसीय दौरे पर मुंबई आई थी. इस दौरान उन्‍होंने कई नेताओं से मुलाकात की. लेकिन अब इस पर महाविकास आघाड़ी (Mahavikas Aghadi) पार्टी में आरोप-प्रत्‍यारोप का दौर शुरू हो गया है. इस पर भाजपा के विधानसभा में विरोधी पक्ष नेता देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने अपनी प्रतिक्रिया दी है. उन्‍होंने कहा कि विरोधियों में आपस में मैच जारी हैं. कितना भी प्रयास कर ले फिर भी 2024 में एक बार फिर से नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के नेतृत्‍व में भाजपा (BJP) सरकार बनेगी.

 

ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने मुंबई में राष्‍ट्रवादी कांग्रेस के अध्‍यक्ष शरद पवार से मुलाकात की. इस पर प्रतिक्रिया देते हुए देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने कहा कि 2019 में लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections) के वक्‍त सारी विरोधी दलों को एकसाथ लाने का प्रयास किया गया था. लेकिन लोगों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर विश्‍वास दिखाया. अब 2024 में भी ऐसा ही होगा. प्रधानमंत्री मोदी विजय होंगे. यह विश्‍वास देवेंद्र फडणवीस ने जताया है.

 

उन्‍होंने कहा कि ममता बनर्जी बगैर कांग्रेस (Congress) के गठबंधन तैयार करने का प्रयास कर रही है. शरद पवार (Sharad Pawar) इसमें साथ है. इस पर कांग्रेस ने अपनी प्रतिक्रिया दी है. विरोधी दलों में आपस में मैच जारी है. उनके मैच के बाद हमारी तरफ से कौन खेलेंगे, यह देखेंगे. यह चुटकी देवेंद्र फडणवीस ने ली है.

 

ममता बनर्जी को शरद पवार का साथ

 

कांग्रेस को किनारे रखकर देश में गठबंधन तैयार करने का प्रयास पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी कर रही है. इसमें राष्‍ट्रवादी (nationalist) के सर्वेसर्वा शरद पवार साथ है. शरद पवार अंडर लाइन स्‍टेटमेंट देते हैं कि भाजपा विरोधी सभी दलों को एकजुट कर लड़ना है. उस वक्‍त वे कांग्रेस को छोड़कर सभी दल की बात करते हैं. आप इस बात पर ध्‍यान दे, ममता दीदी सीधा बात बोलती है. जबकि शरद पवार बिटवीन द लाइन बोलते हैं. लेकिन दोनों की बात का एक ही मतलब है. दोनों को कांग्रेस को किनारे करना है. अन्‍य को साथ लेना है.

 

उनकी पार्टी का स्‍टेटमेंट है कि हम असली कांग्रेस है

 

देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि ममता बनर्जी गोवा और नार्थ इस्‍ट में भी लड़ रही है क्‍या ? इस लिए उन्‍हें कहना है कि अब तक प्रिसिंपल ऑपोजिशन कांग्रेस (Principal Opposition Congress) नहीं हम है. कांग्रेस समाप्‍त हो गई है. उनकी पार्टी का स्‍टेटमेंट है कि हम असली कांग्रेस है. उनकी इन सभी राय में शरद पवार साथ है. शहर पवार की यह राय पहले दिन से ही है. लेकिन राज्‍य की स्थिति इसके अनुकूल नहीं है. वे कांग्रेस को साथ लिए बिना आगे नहीं बढ़ सकते हैं. इसलिए वे कांग्रेस के साथ है.

 

 

 

 

Baramati News | कर कर्जा नहीं देंगे, बिजली का बिल भी नहीं देंगे, बारामती में किसान संगठनों का अनूठा आंदोलन

 

Chitra Wagh | रक्षकों को भकक्ष बनाने वाली पॉलिसी स्‍वीकार करेंगे क्‍या ?, चित्रा वाघ ने गृहमंत्री को लिखा पत्र

You might also like

Comments are closed.