Devendra Fadnavis | शीतकालीन अधिवेशन केवल 5 दिनों का, फडणवीस ने जताई भारी नाराजगी

मुंबई : Devendra Fadnavis | मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) की तबीयत ठीक नहीं होने की वजह से इस बार शीतकालीन अधिवेशन मुंबई में होगा. इसे लेकर मंत्रिमंडल की बैठक में निर्णय लिया गया है. शीतकालीन अधिवेशन नागपुर में नहीं होना निंदनीय है. नागपुर समझौते के मुताबिक ऐसा नियम है कि शीतकालीन अधिवेशन नागपुर में होना चाहिए. यह टिप्‍पणी कांग्रेस नेता आशीष देशमुख (Ashish Deshmukh) ने राज्‍य की सत्‍ताधारी महाविकास आघाड़ी सरकार (Maha Vikas Aghadi Govt.) पर की है. अब विरोधी पक्ष नेता देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने इस पर नराजगी जताते हुए मार्च महीने का अधिवेशन नागपुर में कराने की मांग की है.

 

देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने शीतकालीन अधिवेशन (winter convention) के संदर्भ में जानकारी देते हुए सरकार के अधिवेशन की पॉलिसी पर निशाना साधा है. राज्‍य सरकार अधिवेशन से दूर भाग रही है. अधिवेशन केवल 4 से 5 दिनों का होगा. पहला दिन शोक प्रस्‍ताव में चला जाएगा. ऐसे में इस बार का अधिवेशन केवल चार दिनों का होगा. हमारी मांग थी कि अवधिवेशन की अवधि बढ़ाई जाए. लेकिन सरकार ने अधिवेशन की अवधि बढ़ाने से इंकार कर दिया है. तारांकित प्रश्‍नों पर पिछले दो वर्षों में एक  भी जवाब नहीं दिया गया है. लक्षवेधी सवाल के भी जवाब नहीं मिल रहे हैं. इस तरह से सरकार ने सारे हमलों को दबाने का काम किया है. मेरी मांग के बाद अधिवेशन के पहले तारांकित प्रश्‍नों का जवाब देने का आश्‍वासन सरकार की तरफ से दिया गया है.

 

उन्‍होंने कहा कि राज्‍य सरकार का रूख बता रहा है कि वह अधिवेशन टालना चाहती है. विरोधियों के सवालों का जवाब देने को सत्‍ताधारी तैयार नहीं है. पिछले दो वर्षों में विदर्भ पर एक भी अधिवेशन नहीं हुआ. इसलिए विदर्भ के नागरिकों ने नाराजगी जताई है. विदर्भ के नागरिकों को लगता है कि उनके साथ ठगी की गई है. इसलिए मार्च महीने का अधिवेशन नागपुर में हो. मार्च महीने में नागपुर में कैसे अधिवेशन होगा ? इस संदर्भ में विचार किया जाए.

 

शीतकालीन अधिवेशन मुंबई में होगा

 

कोरोना की संभावित तीसरी लहर, विधान परिषद चुनाव (legislative council election) और मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे के हुए ऑपरेशन को देखते हुए राज्‍य विधान सभा का अधिवेशन पेंडिंग है. अब 20 से 25 दिसंबर के दौरान यह अधिवेश्‍न मुंबई में होगा. प्रथा और परंपरा के अनुसार हर वर्ष शीतकालीन अधिवेशन नागपुर में होता है. लेकिन उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) के ऑपरेशन को देखते हुए इस बार शीतकालीन अधिवेशन मुंबई में होगा. माना जा रहा है कि इस बार का अधिवेशन काफी हंगामेदार रहने की आशंका है.  सरकार को भ्रष्टाचार (Corruption) के मुद्दे पर घेरने की तैयारी की गई है.  लेकिन 4 दिन ऐसा विरोधियों खासकर भाजपा (BJP) को इसके लिए कितना वक़्त मिलता है यह देखना महत्वपूर्ण होगा.

 

 

 

Maharashtra Cabinet Decision | मनपा, नगर परिषद चुनाव में उम्मीदवारों को जाति प्रमाण पत्र पेश करने हेतु दिया गया अतिरिक्त समय

 

Winter Session 2021 | राज्‍यसभा में हंगामा करने के मामले में 12 सांसद निलंबित ; शिवसेना के दो सांसद शामिल

You might also like

Comments are closed.