मरीज की मौत के बाद अस्पताल में तोड़फोड़

पिंपरी। समय पर ऑक्सीजन नहीं दिए जाने से कोरोना संक्रमित मरीज की मौत होने का आरोप लगाते हुए उसके परिजनों ने अस्पताल में तोड़फोड़ मचाते हुए कर्मचारियों के साथ मारपीट की। पिंपरी चिंचवड़ से सटे देहूरोड में कैंटोनमेंट बोर्ड के डॉ.बाबासाहेब आंबेडकर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में सोमवार को यह घटना घटी। इससे यहां कुछ देर के लिए तनाव की स्थिति बनी रही। हालांकि देहूरोड पुलिस ने मौके पर पहुंच कर तनाव को शांत किया।
देहूरोड पुलिस ने इस संबंध में 10-12 लोगों के समूह के खिलाफ मामला दर्ज किया है। डॉ बाबासाहेब आंबेडकर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में कोरोना वायरस से संक्रमित एक 28 वर्षीय युवक को 16 अप्रैल को भर्ती कराया गया था। उसके शरीर में ऑक्सीजन का स्तर 87 प्रतिशत था और अस्पताल के कर्मचारियों ने युवक के परिजनों से उसे पिंपरी चिंचवड़ मनपा के यशवंतराव चह्वाण मेमोरियल अस्पताल में भर्ती कराने को कहा। युवक के परिजन उसे वहां ले गए थे, लेकिन वहां भीड़ ज्यादा होने के कारण उसे वापस घर ले जाना पड़ा। सोमवार को युवक की हालत बिगड़ने पर उसे फिर से कंटोन्मेंट अस्पताल ले जाया गया, लेकिन इस बार उसके शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा महज 37 प्रतिशत थी, और उसकी तुरंत मौत हो गई।
पुलिस ने बताया कि युवक की मौत के बाद करीब 20-25 लोगों की भीड़ अस्पताल पहुंची और मृतक के रिश्तेदार के नेतृत्व में करीब 10-12 लोगों ने अस्पताल के एक कमरे में तोड़फोड़ की और वहां मौजूद कर्मचारियों को पीटा। पुलिस ने 10 से 12 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और इस भीड़ में से छह लोगों की पहचान कर ली गई है। अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है। उनकी तलाश और मामले की जांच चल रही है। इसके लिए स्वास्थ्य केंद्र में लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज भी खंगाले जा रहे हैं। बहरहाल मृतक के परिजनों ने उनके मरीज की मौत के लिए डॉक्टरों की लापरवाही को जिम्मेदार बताकर कार्रवाई की मांग की है।
You might also like

Comments are closed.