व्यापारियों को प्रॉपर्टी टैक्स में माफी देने की मांग

पिंपरी मर्चन्ट फेडरेशन के अध्यक्ष श्रीचंद आसवानी ने लिखा उपमुख्यमंत्री को खत
संवाददाता, पिंपरी। कोरोना महामारी के चलते मार्च 2020 से लॉकडाउन जारी है। अभी भी ‘ब्रेक द चेन – 3’ के अंतर्गत सोमवार से शुक्रवार सुबह 7 से दोपहर 2 बजे तक ही दुकानें खोलने की अनुमति दी गई है। लॉकडाउन ने व्यापारियों की कमर तोड़कर रख दी है। दुकान का किराया, लाइट बिल, कर्मचारियों का वेतन, बैंक किश्तें, बच्चों की पढ़ाई, परिवार के सदस्यों का इलाज जैसे खर्च का निबाह करना मुश्किल हो रहा है। इसके चलते व्यापारियों के बारे में सहानुभूति पूर्वक विचार करते हुए उन्हें प्रॉपर्टी टैक्स में माफी देने की मांग पिंपरी मर्चन्ट फेडरेशन ने की है।
इस बारे में फेडरेशन के अध्यक्ष श्रीचंद आसवानी ने उपमुख्यमंत्री और पुणे जिले के पालकमंत्री अजीत पवार को एक खत लिखा है। इसमें उन्होंने कहा है कि, राज्य सरकार ने पिछले वित्तीय वर्ष में शराब दुकान की फीस माफ कर दी है। जीएसटी में भी छूट है। जिस तरह शराब की बिक्री से सरकार को काफी राजस्व मिलता है। इसी तरह, अन्य व्यापारियों के वित्तीय कारोबार से केंद्र और राज्य सरकारों के साथ-साथ मनपा को भी भारी राजस्व प्राप्त होता है। उन्हें प्रॉपर्टी टैक्स में माफी देने का फैसला किया जाना चाहिए। राज्य सरकार ने शराब डीलरों के लिए लाइसेंस शुल्क माफ कर दिया है, जबकि उनका व्यवसाय शुरू हैं और उनकी वैसी मांग भी नहीं है।
11 से 5 बजे तक दुकानें खोलने की अनुमति दें
अन्य व्यापारियों के उद्योग, व्यवसाय पूर्णता: या पिछले एक वर्ष से आंशिक रूप से बंद है। इन व्यापारियों का सरकार के साथ-साथ पिंपरी चिंचवड़ के महापौर, आयुक्त और मनपा के अन्य पदाधिकारियों द्वारा सहानुभूतिपूर्वक विचार किया जाना चाहिए। व्यापारियों को प्रॉपर्टी टैक्स में माफी देने के साथ ही दुकानों को खोलने की समयसारिणी में भी बदलाव करने की मांग मर्चन्ट फेडरेशन के अध्यक्ष श्रीचंद आसवानी ने की है। मनपा ने पिंपरी चिंचवड़ में दुकानों को सुबह 7 से दोपहर 11 बजे तक खोलने की अनुमति दी है। मूलतः दुकानों का कामकाज और और कारोबार ही 11 बजे के बाद शुरू होता है। इसलिए दुकानों को खोलने की समयसारिणी सुबह 7 से 2 की बजाय 11 से शाम 5 बजे तक करने की मांग भी उन्होंने की है।
You might also like

Comments are closed.