Delta Plus Cases in Maharashtra | विदर्भ में ‘डेल्टा प्लस’ की एंट्री, भद्रावती और अकोला में मिले मरीज

चंद्रपुर – (Delta Plus Cases in Maharashtra) शहर के सुम थाना क्षेत्र में डेल्टा प्लस वैरिएंट (Delta Plus Cases in Maharashtra) का पहला संक्रमित मरीज मिला है। इसकी जानकारी वैद्यकीय अधीक्षक डॉ. मनीष सिंग (Medical Superintendent Dr. Manish Singh) ने दी। मरीज का स्वास्थ्य (Health) अच्छा है। मरीज के संपर्क में आने वाले सभी लोगों की सावधानी से जांच की जा रही है। स्थिति नियंत्रण में बताई जा रही है। हालांकि, नागरिकों को सावधान रहने की जरूरत है।

मनीष सिंह ने कहा कि 16 जुलाई को लिए गए कुछ नमूने पुणे के एनआईवी भेजे गए थे। जांच के दौरान महिला संक्रमित पाई गई। इस दौरान कलेक्टर के मार्गदर्शन में स्थानीय निकाय में बैठक की गयी। इस बैठक में महिला मरीज के संपर्क में आए नागरिकों की जांच के निर्देश दिए गए। स्थानीय स्वास्थ्य प्रशासन स्थिति पर नजर रखे हुए है।

अकोला में मिला डेल्टा प्लस का मरीज –
अकोट शहर में एक 57 वर्षीय व्यक्ति गुरुवार को कोरोना के डेल्टा प्लस संस्करण से संक्रमित पाया गया। मरीज पहले कोरोना संक्रमित था उसका अस्पताल में इलाज किया जा रहा था। उसके स्वाब को परीक्षण के लिए 29 जून को दिल्ली की एक प्रयोगशाला में भेजा गया था। गुरुवार को डेढ़ माह बाद लैब की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। जिला स्तर पर रिपोर्ट मिलने से पहले ही मरीज ने कोरोना के डेल्टा वेरियंट पर काबू पा लिया था। अब उसकी हालत स्थिर बताई जा रही थी।  लेकिन, उसके बाद भी स्वास्थ्य विभाग की एक टीम गुरुवार को मरीज के घर गई और उसकी जांच की।

अकोट शहर के अकोट-अकोला रोड निवासी 57 वर्षीय एक जून में कोरोना से संक्रमित हुआ था। इसलिए लैब में उनके स्वाब की जांच की गई। दिल्ली में प्रयोगशाला हर महीने जिले से कुछ नमूने वायरस के जीनोमिक अनुक्रमण के लिए भेजती है। जून और जुलाई में मरीज के स्वाब के नमूने संयुक्त जांच के लिए भेजे गए थे। स्वास्थ्य विभाग को गुरुवार को उसकी रिपोर्ट मिली। अकोट का एक 57 वर्षीय मरीज कोरोना के डेल्टा वेरियंट से संक्रमित पाया गया। जब स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों और अधिकारियों को मरीज की मौजूदा स्थिति के बारे में पता चला तो कि वह अब कोरोना संक्रमण से उबर रहा है। हालांकि जिले से एक टीम मरीज के संपर्क में आए अन्य नागरिकों का स्वास्थ्य जांचने के लिए अकोट गई थी।

इस बीच विदर्भ में कोरोना की दूसरी लहर ने घेर लिया था। विदर्भ के अमरावती में कोरोना के डेल्टा वेरियंट का पहला मरीज मिला। उसके बाद पूरे विदर्भ में इस तरह के मरीज मिले। कई मारे भी गए। हालांकि दो महीने बाद स्थिति नियंत्रण में आ गई। साथ ही विदर्भ का भंडारा जिला कोरोना मुक्त होने वाला पहला जिला बन गया है। लेकिन, अब चंद्रपुर में मिले डेल्टा प्लस के मरीज ने स्वास्थ्य प्रशासन की चिंता और भी बढ़ा दी है। कई जगहों पर पाबंदियों में ढील दी गई है। नतीजतन, नागरिकों की संख्या में भी वृद्धि हुई है। हालांकि, अब जबकि डेल्टा प्लस का एक मरीज मिल गया है, नागरिकों से भी सावधानी बरतने का आग्रह किया जा रहा है।

You might also like

Comments are closed.